लेबनान क्राइसिस: सऊदी अरब ने लिया अहम् फ़ैसला, नागरिकों को किया आगाह

रियाद: सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने अपने नागरिकों से कहा है कि वो लेबनान का दौरा न करें. इसके अलावा ये भी कहा गया है कि जो भी नागरिक फ़िलहाल लेबनान में हैं वो तुरंत ही वहाँ से अपने देश वापिस आ जाएँ. इतना ही नहीं विदेश मंत्रालय ने आगाह किया है कि किसी और अन्तराष्ट्रीय रास्ते से भी लेबनान ना जाएँ.

लेबनान के प्रधानमंत्री साद अल हरीरी के अचानक ही इस्तीफ़ा देने के बाद से मुल्क में हालात सामान्य नहीं हैं. हरीरी ने ईरान पर लेबनान के आंतरिक मामलों में दख़ल देने का आरोप लगाया था. इस बारे में सऊदी अधिकारीयों का कहना है कि लेबनान में जो हालात हैं उसको देखते हुए उन्हें ये सलाह दी जा रही है कि वो लेबनान ना जाएँ. इसके पहले बहरीन भी अपने नागरिकों से कह चुका है कि वो आने वाले दिनों में लेबनान का दौरा ना करें. सऊदी अरब और बहरीन के इस फ़ैसले के बाद इलाक़े में मुश्किल है और वैश्विक मुल्क इस बात को लेकर चिंतित हैं कि कहीं देश में गृह युद्ध के हालात ना पैदा हो जाएँ.

गौरतलब है कि इस मामले में पूरी तरह से ईरान और सऊदी अरब आमने सामने हैं. ईरान समर्थित हिज़बुल्लाह के अध्यक्ष हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि हरीरी ने इस्तीफ़ा सऊदी अरब के कहने पर दिया है. नसरुल्लाह ने दावा किया कि ना तो वो इस्तीफ़ा देना चाहते थे और ना ही इस्तीफ़ा उनकी इसमें कोई राय थी. उन्होंने कहा कि ऐसा मुमकिन है कि हरीरी को कभी सऊदी अरब लेबनान आने ही ना दे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.