दिल्ली में भाजपा को बड़ा झटका;कुलदीप सिंह बाठ ने प्रदेश उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया

नई दिल्ली: दिल्ली में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। बीजेपी की दिल्ली इकाई के उपाध्यक्ष सरदार कुलवंत सिंह बाठ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।
बाठ ने RSS प्रमुख मोहन भागवत की भागीदारी वाले एक कार्यक्रम में अपनी गैर मौजूदगी के मुद्दे को लेकर उन्होंने इस्तीफा दिया है।
बाठ ने 25 अक्टूबर को दिए गए इस इस्तीफे में लिखा है कि उन्होंने गुरु गोबिंद सिंह के 350 वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में सिख संगत की ओर से आयोजित कार्यक्रम का बहिष्कार किया था। जिसे पार्टी द्वारा बगावत का नाम दिया जा रहा है।

कुलवंत सिंह बाठ का कहना है कि अकाल तख़्त ने सिख संगत के कार्यक्रम से सिखों से दूरी बनाने का आदेश दिया था और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के सदस्य और एक सिख होने के नाते श्री अकाल तख़्त की सर्वोच्चता कायम रखना उनका कर्तव्य है।
इसलिए वह अकाल तख्त के आदेश का वह उल्लंघन नहीं कर सकते थे।

बाठ ने अपना इस्तीफा दिल्ली बीजेपी प्रमुख मनोज तिवारी को भेजा है। उन्होंने कहा कि हमें बाठ का इस्तीफा मिला है और इस पर कोई फैसला लिया जाना बाकी है। बाठ ने कहा है कि उन्होंने व्यक्तिगत आधार पर इस्तीफा दिया है और बीजेपी या बीजेपी नेताओं से उनकी कोई शिकायत नहीं है। गौरतलब है कि बाठ भाजपा में करीब नौ महीने पहले शामिल हुए थे और उन्हें प्रदेश उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

दिल्ली प्रदेश बीजेपी सिख प्रकोष्ठ के सह संयोजक कंवलजीत सिंह धीर का कहना है कि बाठ बीजेपी के पदाधिकारी होकर भी पार्टी के कार्यक्रम का विरोध कर रहे थे। यह अनुशासनहीनता है, इसलिए उनसे इस्तीफा लिया गया है। हालांकि, दिल्ली भाजपा सूत्रों ने बताया कि भाजपा में शामिल होने के बाद भी बाठ शिरोमणि अकाली दल के करीब थे। हालांकि बाठ का कहना है कि अभी अकाली दल में शामिल होने की उनकी कोई योजना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.