क्या मुलायम की कोशिश ला रही है रंग?, क्या शिवपाल और अखिलेश फिर आयेंगे साथ?

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के अंदरूनी सूत्रों की माने तो शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच बातचीत हो रही है. पार्टी के सबसे बड़े नेता मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे और राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की बात अपने चाचा से करवाई है.

सूत्रों के मुताबिक़ अखिलेश और शिवपाल की फ़ोन पर बात हुई है जिसमें दोनों क़द्दावर नेताओं ने अपना अपना पक्ष रखा है. हालाँकि इस बातचीत में भी पुराने मुद्दे उठे जिसमें अखिलेश और शिवपाल दोनों ने गिले-शिकवे किये. इसके बावजूद भी इसे सपा के बड़े नेता अच्छे संकेत के रूप में देख रहे हैं.

सपा में 2016 से ही दो गुट काम कर रहे हैं. एक गुट शिवपाल यादव का है तो दूसरा अखिलेश यादव का. जहाँ शुरू में शिवपाल गुट ने अखिलेश को परेशान किया वहीँ अखिलेश ने बाद में बड़ी जीत हासिल की और 1 जनवरी को आनन् फानन में बुलाये गए अधिवेशन में ख़ुद को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया. इतना ही नहीं उन्होंने शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया.

इसके पहले इस पूरे मामले में कई नाटकीय मोड़ आये जिसमें एक बार तो मुलायम ने अध्यक्ष रहते हुए अखिलेश यादव को भी पार्टी से बाहर कर दिया. मुलायम की नाराज़गी रामगोपाल यादव से अधिक रही है.

इतना होने पर भी विधानसभा चुनाव के पहले शिवपाल और अखिलेश में किसी तरह का समझौता हो गया था. चुनाव के बाद लेकिन फिर शिवपाल ने अलग पार्टी बनाने की बात की है. हालाँकि मुलायम ने नयी पार्टी बनाने की बात को ख़ारिज किया है.

जानकारों के मुताबिक़ मुलायम चाहते हैं कि अखिलेश अपने चाचा को भी सम्मानजनक पद दें जिससे कि समझौता हो सके. मगर ऐसा लगता है कि अखिलेश और शिवपाल दोनों ही एक दूसरे पर अभी पूरा भरोसा नहीं कर पा रहे हैं.

अखिलेश और शिवपाल अगर फिर से एकसाथ आ जाते हैं तो सपा को 2019 लोकसभा चुनाव में बड़ा फ़ायदा हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.