क्यूँ लाल कृष्ण अडवाणी नहीं देना चाहते गुजरात चुनाव पर कोई भी बयान ?

November 26, 2017 by No Comments

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण अडवाणी गुजरात चुनाव पर किसी तरह का बयान नहीं देना चाहते। गुजरात चुनाव प्रचार में अब तक अडवाणी को कहीं नहीं देखा गया है। बताया जा रहा ही कि अडवाणी को गुजरात चुनाव प्रचार से दूर रखा गया है। लेकिन ऐसा क्यों किया जा रहा है। अडवाणी बीजेपी के संस्थापकों में से एक और बीजेपी के वरिष्ठ नेता है।

बीते 2 दशकों से गुजरात की गांधीनगर सीट से सांसद अडवाणी को पहली बार बीजेपी ने चुनाव प्रचार से दूर रखा है। उन्हें गुजरात में बीजेपी के लिए प्रचार करने का न्योता भी नहीं दिया गया है। हाल ही में एक कार्यक्रम में अडवाणी भी इस मामले में बात करने से कतराते ही नजर आये।

इस कार्यक्रम में मीडिया द्वारा जब गुजरात की राजनीति से जुड़ा सवाल पूछा गया तो उन्होंने इस मुद्दे पर कोई भी जवाब देने से मना कर दिया। उनका कहना था कि राज्य की राजनीति में क्या कुछ हो रहा है उन्हें इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है। ये पूछने पर कि क्या वो गुजरात में चुनाव प्रचार करने जाएंगे? तब उनकी जगह प्रतिभा ने जवाब दिया था, नहीं, हम इसी दुनिया में खुश हैं।

गौरतलब है कि राजनीति में काफी एक्टिव रहे बीजेपी नेता अडवाणी बीते 2 सालों से इससे दूरी बना रहे हैं, या फिर पार्टी उन्हें साथ लेकर चलना नहीं चाहती है। देखा जाये तो इस वक़्त बीजेपी के एक्टिव नेताओं में पीएम मोदी के करीबी नेताओं का ही नाम शामिल है। आज बीजेपी 11 करोड़ सदस्यों के साथ दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा करती है।

आज भी उसकी वैचारिकी ‘हिंदुत्व’ पर केंद्रित है जिसे आडवाणी ने सींचा था। लेकिन बीजेपी ने अडवाणी के लिए पार्टी में स्थिति को पहले जैसे नहीं रखा है। आज बीजेपी में वो नेता राज कर रहे हैं, जिनको एक वक्त में आडवाणी के शिष्यों के रूप में जाना जाता था।
लेकिन पीएम मोदी के राज में अडवाणी चुनाव प्रचार से दूर है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *