“लड़कों की अश्लील हरकतों के ख़िलाफ़ ये लड़कियों के स्वाभिमान की लड़ाई है”

September 23, 2017 by No Comments

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अच्छा नारा है। बस नारा ही है। क्योंकि बेटियों को हम आज भी क़ैद में रखना चाहते है। पढ़ती बेटियां, हक़ की आवाज़ बोलती बेटियां, अपनी लड़ाई लड़ती बेटियां इनकी आँख में किरकिरी बन कर चुभती है।

BHU की लड़कियां भी इसीलिये चुभ रही है कि उन्होंने अपनी लड़ाई अपने हाथ में ले ली है। और लड़ाई भी किसके खिलाफ इनके बेटों के खिलाफ। तो आपा खोना लाज़मी है। लेकिन इस बार ये लड़कियां डटी हुई है। इन्होंने ठान रखा है कि इस बार ये सिक्योरिटी और अपनी आज़ादी दोनों हासिल करके रहेगी। विश्वगुरु कहे जाने वाले देश के महान महामना के स्थापित विश्वविद्यालय में जहाँ कुछ लड़के पढ़ने के अलावा सारा काम करते है। इनकी ओछी हरकतों से जहाँ BHU प्रशासन को शर्मिंदा होकर इनके अगेंस्ट कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए थी, उसने लड़कियों पर ही पाबन्दी लगायी और अपनी संकुचित सोच का प्रदर्शन किया।

एक लड़की कितनी मुश्किलों से अपने लिए एक मुक़ाम ढूंढने निकलती है घर से, पेरेंट्स उन्हें विश्वविद्यालय के हॉस्टल में रहने की परमिशन देते है ये सोचकर की उनकी बेटियां वहां सुरक्षित है। लेकिन यहाँ तो कॉलेज में हॉस्टल में सड़कों पर लड़को की फब्तियों, अश्लील हरकतों ने जीना कितना मुश्किल कर रखा होगा इन बेटियों के लिए। ये लड़ाई है अपने स्वाभिमान की, अपनी आज़ादी की और शर्म की बात है कि BHU दोषियों को दण्डित करने की बजाय लड़कियों के खिलाफ है।

पुलिस फ़ोर्स को बुलाया गया है लेकिन VC ग़ायब है। ये अपनी जिम्मेदारियों से भागने की पराकाष्ठा है। शहर के और देश के प्रशासन का तो कहना ही क्या। वो आँखें मूंदने के लिए फेमस है। जहाँ जरुरत अपने कैंपस को ऐसे स्टूडेंट्स से क्लीन करने की थी और अपनी फीमेल स्टूडेंट्स को स्वस्थ और सुरक्षित पढ़ने का माहौल देने की, जहाँ जरुरत उन बच्चियों को संभालने की थी और उनके साथ खड़े होने की थी वहां BHU हॉस्टल और टॉयलेट्स पर ताले लगाकर और पानी तक बंद करवाकर अपनी कुंठित सोच दिखा रहा है। लड़कियों डटी रहो, लड़ो और हासिल करो जो चाहती हो। इस सोये देश को अभी जागने में वक़्त लगेगा लेकिन तुम अपनी आवाज़ बुलंद रखो। काश मैं सशरीर उपस्थित हो सकती वहां और इनके साथ जुट सकती इस अन्याय के खिलाफ।

रीना बोराना
#जयपुर की रहने वालीं रीना बोराना पेशे से हाइड्रोलोजिस्ट हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *