यहाँ दिखेगा काबा जैसा नज़ारा,दुनिया भर के लाखो मुस्लिम करेंगे शिरकत,जाने वज़ह

November 23, 2018 by No Comments

बुलन्दशहर-इस समय ज़िले में ख़ासी रौनक़ का माहौल है.इसकी वजह है कि ज़िले में आने वाली 1,2 और 3 तारीख़ को तबलीगी जम’आत का इज्तेमा होने वाला है.इसको लेकर ख़ूब तैयारियाँ चल रही हैं.इस इज्तिमा में शरीक होने के लिए बड़े स्तर पर नौजवान आ रहे हैं.इसको लेकर आने वाले लोग देश से तो हैं ही,कुछ विदेशी भी इसमें शामिल होने आ रहे हैं.मेज़बान भी नहीं चाहते कि मेहमानों को कोई तकलीफ़ हो इसलिए वो भी अच्छे से तैयारियाँ कर रहे हैं.एनएच 91 पर अकबरपुर और दरियीपुर समेत कई गांवों की ज़मीन पर ये इज्तिमा होने जा रहा है.बताया जा रहा है कि लगभग १००० बीघे के मैदान पर ये आयोजन होगा.

इसको लेकर पिछले दो महीनों से तैयारियाँ चल रही हैं जिसमें २ हज़ार के क़रीब लोग काम कर रहे हैं.इस आयोजन की खास्ता बात ये भी है कि इसमें कोई मज़दूर नहीं लगाया गया है,लोग अपनी मर्ज़ी से इसमें अपनी सेवायें दे रहे हैं.ग़ौर करने वाली बात ये भी है कि इसको लेकर अच्छे इंतजाम किये गए हैं.इज्तिमा में बहतरीन बैठने के इंतजामात,शानदार और वसी (विशाल) तात्तकालिक मस्जिद,उम्दा वज़ू खाने,पीने का साफ़ पानी,साफ़ सुथरे शौचालय व इस्तंजा खानों के निर्माण और सर्दी-बारिश से बचने के लिए भी इंतज़ाम हैं.इज्तिमागाह में आने वाले लोगों की सेहत का भी ख़याल रखा जाएगा.किसी तरह की अनहोनी के लिए विशेष इंतज़ाम हैं.

Photo Source-aboutislam.net

साथ ही इज्तिमागाह में कुतुबखाने,पंसारी की दुकानें व कपड़े आदि सहित इज्तिमा के हवाले से ज़रूरियात-ए-ज़िन्दगी का हर सामान वाजिब दाम पर उपलब्ध रहेगा.इस बारे में आपको बता दें कि इस आलमी इज्तिमा में लाखों अक़ीदतमंदों के आने की बात इंतजामिया की जानिब से कही जा रही है।इज्तिमा में तबलीगी जम’आत के मौजूदा सरबराह मौलाना साद साहब की तशरीफ़ आवरी की भी संभावना भी जताई जा रही है।

Photo Credit-TheWire

आपको बता दें कि तबलीगी जमाअत का काम मौलाना इलियास रहमतुल्लाहिअलैह ने सन 1926 में शुरू किया था.उन्होंने इसको अच्छी नींव दी जिसकी वजह से आज ये मुक़ाम हासिल हो सका है.सन 1944 में उनके इंतक़ाल के बाद मौलाना यूसुफ़ ररहमतुल्लाहिअलैह ने इसकी बागडोर अपने हाथ में ली और ज़िम्मेदारी से निभाया.उनके गुज़र जाने के बाद मौलाना इनामुल हसन ने ये ज़िम्मेदारी उठाई.1995 में जब उनका इंतक़ाल हुआ तो ये काम मौलाना साद के पास आ गया. वो भी पूरी ज़िम्मेदारी से ये काम कर रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि बड़ी संख्या में लोग इसमें भाग लेंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *