लालू ने पूछा सवाल,’अब तक नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर FIR क्यूँ नहीं हुई?’

पटना: सृजन घोटाले में भाजपा और जदयू के नेताओं के नाम जिस तरह से आ रहे हैं इससे ऐसा लग रहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के लिए राहें आसान नहीं हैं.

इसी मुद्दे को उठाते हुए शरद यादव ने शक जताया कि जांच में गड़बड़ी की जा सकती है. जदयू के बाग़ी नेता शरद यादव ने सर्जन घोटाले को बहुत बड़ा घोटाला बताया. उन्होंने कहा कि इस घोटाले की जांच सुप्रीम कोर्ट जज की निगरानी में होनी चाहिए.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने ट्विटर के ज़रिये कहा,”सृजन घोटाले मे जेल जाने के डर से नीतीश कुमार महागठबंधन तोड़कर बीजेपी की शरण में चले गए। BJP भूली नहीं है नीतीश ने BJP को लात क्यों मारी थी?”उन्होंने कहा कि नीतीश मरते दम तक सत्ता चाहते हैं.

उन्होंने पूछा कि अभी तक सुशील मोदी और नितीश कुमार पर FIR क्यूँ नहीं है.

तेजश्वी यादव ने लगातार इस मामले को उठाया हुआ है. उन्होंने दावा किया कि नितीश कुमार इस घोटाले में पूरी तरह से शामिल हैं.उन्होंने कहा,”नीतीश जी सिर से लेकर पैर तक सृजन घोटाले में धँसे हुए है। इसलिए गिड़गिड़ा कर मोदी के सामने पलटी मार जनादेश का अपमान कर अनैतिक सरकार बना ली।”

उन्होंने नितीश के भाजपा के साथ चले जाने को लेकर भी सृजन घोटाले में लिप्त होने को वजह माना. उन्होंने कहा,”अगर सृजन घोटाला नहीं होता तो आज नीतीश जी BJP के साथ मजबूरी में नहीं होते। एक दूसरे का काला पाप छिपाने साथ आए है नीतीश जी और सुशील मोदी”

तेजश्वी ने कहा कि उन्होंने नितीश को घोटाला नहीं करने दिया इसीलिए नितीश पुराने साथियों के साथ घोटाला करने चले गए. इसके इलावा उन्होंने कहा,”
सुशील मोदी ख़ुद मान रहे है मेरे वितमंत्री रहते मेरी बहन की #सृजन घोटाले में भागीदारी रही।ये ख़ुद इसमें शामिल है और नीतीशजी को हिस्सा देते है”

Leave a Reply

Your email address will not be published.