“चारा घोटाले में ई लोग बोलते थे, लालू चारा खा गए, अब शौचालय घोटाले में क्या बोलेंगे..नीतीश क्या खा गए?”

November 4, 2017 by No Comments

पटना: देश की राजनीति के सबसे बड़े धुरंधरों में से एक कहे जाने वाले राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप जब भी लगे हैं मीडिया के एक तबक़े ने उनको ख़ूब चुटकियाँ ले ले कर छापा है. इतना ही नहीं विपक्षी नेताओं ने भी अपनी गरिमा के बाहर जाकर बयानबाज़ी की है. फिर चाहे वो सिर्फ़ आरोप लगे हों. चारा घोटाले में ज़रूर लालू पर पद के दुरूपयोग के आरोप को सिद्ध पाया गया लेकिन उनके ऊपर पैसा लेने का आरोप नहीं बना. इसके बावजूद भी मीडिया में ये सब ऐसे प्रकाशित होता रहा मानो लालू ने ही सब पैसों को खाया है. इतना ही नहीं विपक्षी नेताओं ने बड़ी चालाकी से कहना शुरू किया कि “लालू चारा खा गए”.

वक़्त का पहिया घूम गया है और बिहार की नीतीश सरकार पर लगातार घोटालों के आरोप लग रहे हैं. भले ही नीतीश अपने को साफ़ बताते फिर रहे हों लेकिन अब ये ज़ाहिर है कि शक की सुई तो हर ओर जायेगी. इसी को देखते हुए हाल ही में “शौचालय घोटाले” की ख़बर आयी है. राजद सुप्रीमो ने शौचालय घोटाले की ख़बर आने पर कहा,”Breaking:- बिहार में अब करोड़ों का शौचालय घोटाला। कागज़ों मे ही हज़ारों शौचालय खा गयी नीतीश सरकार। शौचालय भी नहीं छोड़े?CM ईमानदार है,है ना?”. लालू ने ट्वीट किया,”तथाकथित चारा घोटाले में ई लोग बोलते थे, लालू चारा खा गए। अब शौचालय घोटाले में वो क्या बोलेंगे, नीतीश क्या खा गए?”

पटना ज़िले में इस बारे में ज़िलाधिकारी संजय अग्रवाल के निर्देश पर एक FIR दर्ज करायी गयी है. इस FIR के अनुसार शौचालय निर्माण के नाम पर कई NGO को 13.5 करोड़ रूपये का फ़र्ज़ी भुगतान हुआ है जबकि प्रचार के नाम पर भी 1.5 करोड़ का भुगतान हुआ है. अब इस मामले में राजनीति ने ज़ोर पकड़ लिया है और सृजन घोटाले के बाद नया घोटाला सामने आने से जदयू और भाजपा नेताओं को जवाब देते नहीं बन रहा. राजद नेता तेजश्वी यादव ने इस बारे में ट्वीट किया,”नीतीश सरकार ने अब 10 हजार शौचालयों के करोड़ों-करोड़ डकार लिए। नीतीश जी “Zero tolerance on Honesty” के सबसे बड़े ब्राण्ड ऐम्बैसडर बन चुके है।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *