चुनाव के वक़्त दिखावटी राम-राम जपने वालों को राम ही सबक सिखाएंगे: लालू यादव

दिवाली के मौके पर बीजेपी अयोध्या में अयोध्या में इतिहास की सबसे बड़ी दीवाली मनाये जाने के दावे कर रही है। सरयू नदी पर राम की पैड़ी में दीप उत्सव मनाया गया, इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यहाँ मौजूद रहे।  हेलीकॉप्टर के जरिये भगवान राम की सवारी उतर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान राम की आरती उतारी।
इस मौके पर सरयू घाट पर क़रीब दो लाख दिए भी जलाए गए। अयोध्या में दिवाली मनाये जाने को लेकर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बीजेपी को घेरा है। लालू ने दिवाली के इस कार्यक्रम को बीजेपी की दिखावेबाजी करार दिया। उन्होंने कहा है कि बीजेपी राम के नाम पर जिस तरह से लोगों को छलने का काम रही है, एक दिन बहुत बुरी तरह से अपने ही जाल में फसेंगी।

सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा है कि “चुनाव के समय दिखावटी राम-राम जपने वाले को राम ही मारेंगे। भगवान राम को छलते समय भी इनकी रूह नहीं काँपती”.

गौरतलब है कि राम मंदिर के नाम पर बीजेपी हमेशा से ही राजनीति करती आ रही है। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा के दौरान भी अयोध्या में राम मंदिर बनाये जाने का मुद्दा कई बार उठाया था।

बीजेपी के एजेंडे में राम मंदिर मुद्दा हमेशा ऊपर रहा है. लेकिन, सत्ता में आने के बाद वह इसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश या फिर आपसी सहमति से सुलझाने की बात कहकर टालती रहती है।आपको बता दें की यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि ‘राम मंदिर लोकसभा चुनाव 2019 का एजेंडा है, जबकि बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि ‘अगली दिवाली राम मंदिर में मनेगी।
ऐसे में गौर करने वाली बात ये है कि लोकसभा चुनाव से पहले इन बयानों और अयोध्या की दिवाली के पीछे बीजेपी की क्या रणनीति है?

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.