नोटबंदी पर नेताओं की प्रतिक्रियाएँ – “मैं फिर कहती हूँ, नोटबंदी एक बड़ा घोटाला है”

November 7, 2017 by No Comments

नई दिल्ली: नोटबंदी को कल एक साल हो जाएगा और ऐसे में विपक्ष और सत्ता पक्ष पूरी तरह से इस मामले में आमने सामने हैं. भाजपा जहां इसे “काला धन विरोधी दिवस” बता रही है वहीँ कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल इसे “काला दिवस” मान रहे हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नोटबंदी की मुखर विरोधी रही हैं और इसके विरोध में उन्होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल को भी काला कर लिया है. अलग अलग दलों के नेताओं ने नोटबंदी पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं. हमने कुछ बड़े नेताओं की प्रतिक्रियाओं को एकत्रित किया है.

नोटबंदी के पक्ष में जिन नेताओं ने प्रतिक्रिया दी. उनमें अधिकतर भाजपा के नेता ही हैं. इसमें सबसे मुखर समर्थक अरुण जेटली हैं. वो कहते हैं कि नोटबंदी की वजह से ट्रांसपेरेंसी आयी है. उनके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह कहते हैं, “आर्थिक सुधारों के लिए जब कुछ बड़े और थोड़े कड़े फैसले लिए जाते हैं तो भले ही short-term pain होता है पर उससे अंततः long-term gain होता है।”

नोटबंदी के विरोध में कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है. विपक्ष के नेताओं की प्रतिक्रिया नीचे दी जा रही है.
अखिलेश यादव: अर्थव्यवस्था की बदहाली, कारोबार-उद्योग की बर्बादी व देशव्यापी बेरोज़गारी में नोटबंदी का जश्न दुखद है. ये नोटबंदी का एक बरस नहीं बरसी है.

ममता बनर्जी: नोटबंदी एक बड़ा घोटाला है, मैं फिर कहती हूँ नोटबंदी एक बड़ा घोटाला है. अगर सही से जांच हो जाये तो ये ये सिद्ध हो जायेगा.

लालू प्रसाद यादव: भाजपा को ये समझाना चाहिए कि क्यूँ तानाशाहपूर्ण और मूर्खतापूर्ण क़दम #DeMoDisaster को क्यूँ मनाया जाए? देश को इससे “कुछ नहीं मिला” और अर्थव्यवस्था ने “कुछ नहीं” के लिए झेला.

तेजश्वी यादव: लाखो ग़रीब और मध्यम वर्ग के लोगों की रोज़ी रोटी और नौकरी चली गयी, SMEs बंद हो गयीं, कुटिया उद्योग और उद्यमिता, जॉब जनरेशन को #DeModisaster की वजह से झटका लगा है.

जीतू पटवारी:
बच्चों की गुल्लक और दादी के बटुये में कालाधन था..? नोटबंदी ने स्नेह और अमानत को चोरी कहा और चोरों को साहूकार बताया..? हम आजादी के बाद पहली बार अपने ही पैसों के लिए सरकार के गुलाम दिखे, गरीबों का कुलजमा धन कुछ अमीरों में लुटा दिया गया..?नोटबंदी जलियांवाला हत्याकांड की तरह एक सामूहिक नरसंहार है, मोदी ने लोगों को बरसों की तबाही और सदियों के जख्म दिये हैं..।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *