लव मैरेज और अरेंज मैरेज में कौन सही है? मुफ़्ती तारिक मसूद साहब ने बताया…

December 8, 2018 by No Comments

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाह व बरकात तहु दोस्तों आज हम मौलाना तारिक मसूद साहब का एक ऐसा बयान लेकर आए हैं जिसमें जिसमें मौलाना तारिक मसूद साहब ने कहा कि जल्दी की लव मैरिज अरेंज मैरिज से बेहतर है दोस्तों मौलाना तारिक मसूद साहब यह कहते हैं कि अगर आपको कोई लड़की पसंद आ गई तो उससे दोस्ती लगाना सही नहीं है बल्कि उसको निकाह का पैगाम भेजे और उससे शादी करना.
यह गर्लफ्रेंड वाला कल्चर बिल्कुल खत्म करना है और निकाह को चंद करने का पैग़ाम देना है मौलाना कहते हैं कि लड़की किसी को भी पसंद आ सकती है और इस पर कोई गवर्नमेंट की तरफ से ही पाबंदी नहीं है और अल्लाह की तरफ से भी पाबंदी नहीं है दोस्तों हदीस से साबित है कि दो मोहब्बत करने वालों के बीच में निकाह से बेहतर कोई चीज नहीं है.
दोस्तों हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जमाने में एक केस आया जिसमें एक सहाबी हजरत मुहीरा इब्ने शोभा रजि अल्लाह ताला अनु बहुत मालदार सहाबी थे किसी लड़की को उन्होंने निकाह का पैगाम भेजा तो उसके मालिक का इंतकाल हो चुका था तो उसके चाचा ने उनका पैगाम को कबूल कर के अपनी भतीजी का निकाह करवा दिया.

youtube


तू उस बच्ची की वाल्दा ने कहा कि मेरी बच्ची यहां निकाह नहीं करना चाहती बल्कि वह एक गरीब सहाबा से निकाह करना चाहती है तो आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने उस बच्ची को उन सहावी से लेकर वह जहां निकाह करना चाहती थी उनको दे दी और आप सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम ने फरमाया की दो मोहब्बत करने वालों के बीच निकाह से बेहतर और कोई चीज नहीं है.

youtube


जब वह दोनों एक दूसरे से मोहब्बत करते हैं तो कोई तीसरा क्यों नहीं कहा का पैगाम भेजें जहां वह बच्ची चाहती थी आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने उसका निकाह वही किया तो इससे यह साबित होता है कि बच्ची या बच्चे पर अपनी राय जबर्दस्ती थोपना यह सही नहीं है।ये वीडियो you tube पर maarif online channel पर मौजूद है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *