लखनऊ में छात्रों ने की सुसाइड की कोशिश,CM योगी की पुलिस देखती रही तमाशा

September 28, 2017 by No Comments

लखनऊ: लखनऊ विश्विद्यालय में आज छात्र-संघ की बहाली को लेकर चल रहे आन्दोलन में आज कुछ छात्रों ने आत्मदाह की कोशिश की. इस दौरान वहाँ पुलिस, SDM, प्रशासन मूक दर्शक बने खड़े रहे. छात्रों ने ही दौड़ कर अपने साथियों को बचाया.

11 रोज़ से चल रहे आन्दोलन में आज आमरण अनशन का तीसरा दिन है. 12 छात्र आमरण अनशन पर बैठे थे जिनमें से चार की हालत गंभीर हो गयी. इनमें दो अभी भी अस्पताल में दाख़िल हैं. समाजवादी छात्रसभा के महेंद्र यादव और अजीत प्रताप सिंह का इलाज हज़रतगंज सिविल अस्पताल में चल रहा है.ये दोनों ही छात्र ना खाने की वजह से बीमार पड़ कर बेहोश हो गए. वहीँ छात्रसभा के माधुर्य “मधुर” की भी हालत अस्पताल जाने जैसी हो गयी है लेकिन वह धरना स्थल छोड़ने को तैयार नहीं हैं. छात्रसभा के सौरभ सिंह “बजरंगी” और दिव्यांशु सिंह रजत ने भी आमरण अनशन किया.

दूसरी ओर लखनऊ विश्विद्यालय गेट नंबर एक पर इस आन्दोलन में तब नया मोड़ आ गया जब धरने पर बैठे कुछ छात्रों ने आत्मदाह की कोशिश की. छात्रों का आरोप है कि जब उनके एक साथी ने आत्मदाह की कोशिश की तो वहाँ मौजूद प्रशासन के लोग हंस रहे थे.

इस मामले में हमने समाजवादी छात्रसभा के अंकित सिंह बाबु से बात की. उन्होंने कहा कि कुलपति संवेदनहीन है…छात्रों की तबियत बिगडती जा रही है और वो बात तक करने को नहीं तैयार हैं. उन्होंने कहा कि जिस प्रकार पूरे देश में विश्विद्यालयों का दमन हो रहा है ऐसा लगता है भाजपा सरकारें छात्रों से प्रेम नहीं करतीं.

इस आन्दोलन में समाजवादी छात्रसभा, NSUI, SFI तथा अन्य दलों के इलावा भाजपा के छात्र संघठन ABVP के छात्र भी हैं. इसके बावजूद भी भाजपा का कोई नेता छात्रों से बात करने नहीं आया है. ABVP के अनुराग तिवारी ने भी आज आत्मदाह की कोशिश की. उनके इलावा कुछ अन्य छात्रों ने भी कोशिश की लेकिन दूसरे छात्रों की तत्परता ने उनकी जान बचाई.

अभी-अभी सूचना मिली है कि छात्रों की मांगे मान ली गयी हैं और इसमें प्रशासन अपनी ओर से कार्यवाही करेगा.

Exif_JPEG_420

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *