लखनऊ विश्विद्यालय में दलित छात्र-नेता पर हुआ हमला

लखनऊ। आज शाम 3 बजे के आस-पास कुछ अराजक त्तवों ने आइसा नेता रत्न सेन बादल के साथ मार पीट कर जाति सूचक भद्दे शब्दों का प्रयोग किया। लखनऊ विश्वविद्यालय में इस तरह की घटनाएँ आम हो गई हैं जिन पर विवि प्रशासन कोई पहलकदमी नहीं ले रहा है।

इस बारे में आइसा नेता नितिन राज ने कहा कि, “आइसा के सदस्यों पर योजनाबद्ध तरीक़े से हमला हो रहा है और एक विचारधारा विशेष को दबाने की कोशिश की जा रही है।छात्र रत्न सेन बादल पर हमला पूरे दलित समुदाय पर हमला है।”

आइसा के प्रदेश सचिव सुनील मौर्य ने कहा,” दलित छात्र चाहे वह रोहित वेमुला हो ;या आज रत्न सेन बादल हो; इस तरह के हमलों पर प्रशासन कोई रूख स्पष्ट नहीं कर रहा है.

क्या है मामला
दुपहर क़रीब 3 बजे लखनऊ विश्विद्यालय गेट नंबर एक पर स्थित नेसकैफ़े कार्नर पर कुछ लड़कों ने रत्न सेन बादल को बुलाया। बादल को वो किसी सोशल मीडिया पोस्ट के सिलसिले में गाली देने लगे।

जब बादल ने कहा कि उसने कोई व्यक्तिगत पोस्ट नहीं डाली है तो उन्होंने कहा पहले डाली थी। इसके बाद 7-8 लड़कों में से एक ने दलित छात्र को थप्पड़ मार दिया।

इसके बाद बाक़ी लड़के रत्न को गाली देने लगे। इतना होने पर कुछ और छात्र जो रत्न सेन के साथ थे वो आ गए जिसके बाद उन्होंने रत्न सेन को वहां से हटाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.