माँ की बद्दुआ ने इबरत हासिल करने का नमूना बना दिया, हर लड़के ज़रूर पढ़े पूरा वाकया

December 9, 2018 by No Comments

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम व रहमतुल्ला हे व बरकातहू दोस्तों आज हम आपको एक ऐसा वाकया सुनाएंगे जिसमें मां की बद्दुआ शामिल होती है आइए देखते हैं तो दोस्तों बहुत देर हो चुकी थी लेकिन अभी तक वह नहीं आया था बेचारी बूढ़ी मां बहुत परेशान थी और बार-बार दरवाजे की तरफ जा रही थी दरवाजे को खोल कर गली में झांकती.
लेकिन जब वह नजर ना आता तो दिल पकड़ के रह जाती हाय अल्लाह मेरा बेटा इसके मुंह से हर बार निकल जाता बाप कब का फौथ हो चुका था घर में बूढ़ी मां और जवान बेटे के अलावा कोई और ना था लेकिन बेटा भी गलत लोगों से दोस्ती लगाए हुए था और बुरे लोगों ने इसे भी गलत रास्ते पर डाल दिया था और वह रात को बहुत देर तक घर से बाहर रहने लगा बूढ़ी मां ने उसे बहुत समझाया और बहुत देर तक समझाया लेकिन वह ना माना बूढ़ी मां कहती थी कि बेटा मैं अकेली रहती हूं खुश रहता है हालात भी ठीक नहीं है और तेरी भी फिक्र होती है.

google


मुझे बहुत परेशानी होती है देर ना किया करो जल्दी घर आ जाया करो लेकिन वह जैसे की सुनता ही नहीं था मां की बातों को एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल देता दोस्तों लेकिन कोई और होता तो सोचता चलो जाने दो नहीं मान रहा है लेकिन दरअसल वह मां थी तो वह कैसे मान जाती हो बार-बार मना करती थी और मैं इसके बगैर कैसे खाना खा सकती थी कैसे सो सकती थी.
आज भी वही मामला था रात भी परी बीत चुकी थी अब सुबह होने वाली थी अचानक दरवाजे पर एक दस्तक हुई मां भागती भागती गई और दरवाजा खोल दिया सामने उसका बेटा खड़ा हुआ था माने अल्लाह ताला का शुक्रिया की देर हो गई तो खैर है मेरा बेटा सही सलामत घर आ गया वह कहने लगा अम्मा रोटी चाहिए रोटी जल्दी करो भूख से मर रहा हूं मां ने कहा अच्छा बेटा अच्छा मैंने अभी कुछ नहीं खाया तेरा ही इंतजार कर रही थी.

youtube


लेकिन बेटा आज इतनी देर से क्यों आया है तू कहां चला गया था मैं तो बहुत परेशान हूं कि पागल हो चुकी थी मां मैं सिनेमा देखने चला गया था दोस्तों के साथ और देखते-देखते देर हो गई फिर मैं घूमने चला गया मां ने कहा बेटा तूने कैसे लोगों से दोस्ती लगा रखी है इन्होंने तो तुझे गलत रास्ते पर लगा दिया है कितनी बार तुझे पुलिस उठा के ले गई है मैं लोगों को तेरी वजह से मुंह दिखाने के काबिल नहीं रही.
मोहल्ले वाले कहते हैं कि यह बदमाश की मां है और वह मां को जवाब देने लगा तो मां ने कहा बेटा इसी दिन के लिए तुझे पैदा किया था कि तुम मुझे जवाब दे तो उसके बाद उसका बेटा उसे मारने लगा तो उसी समय मां ने हाथ उठाकर बद्दुआ की कि अल्लाह इसी दिन के लिए इसे पैदा किया था कि आज इसके हाथों से जूते खाने पड़े अल्लाह मुझे मौत दे दे मैं हूं जिंदा रहने के काबिल नहीं हूं.
अल्लाह जो बेज्जती हो चुकी वह हो गई अब मुझे अपने पास बुला ले उसके बाद वह मां को छोड़ कर सोने चला गया और थोड़ी देर के बाद उसके पैर में शहीद दर्द उठे उसके बाद वह दर्द बढ़ती चली गई सुबह उठा तो पास हो चुका था डॉक्टर के पास गया तो डॉक्टर ने कहा कि यह बीमारी मुझे समझ में नहीं आ रही फिर वह बड़े बड़े अस्पतालों और बड़े बड़े डॉक्टरों के पास गया लेकिन किसी को इस बीमारी का इलाज समझ में नहीं आया.

youtube


जिसके बाद डॉक्टरों ने पैर काटने को कहा उसका थोड़ा सा पैर काट दिया गया फिर भी कुछ ना हुआ उसके बाद उसका और पैर काट दिया गया यहां तक कि उसका सारा पैर काट दिया गया और वह लंगड़ा हो गया जहां से उसका पैर काटा गया था वहां पर जख्म बन गया और वहां मुवाद और पीप भर गया उसके बाद उसकी मां की वफात हो गई इधर उसका इलाज चल रहा था और उधर उसकी वफात हो गई.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *