ममता बनर्जी नहीं चाहती त्रिपुरा में भाजपा की जीत, कहा लेफ्ट जीती तो बहुत ख़ुशी होगी

March 1, 2018 by No Comments

त्रिपुरा में मंगलवार को हुए विधानसभा चुनाव के बाद दो एक्जिट पोल के नतीजों में वाम मोर्चा की सरकार की जगह भाजपा सरकार आने का पूर्वानुमान लगाया गया है। एक्जिट पोल के अनुसार मेघालय और नागालैंड में भी भाजपा अपनी स्थिति मजबूत करेगी। विधानसभा चुनावों के दौरान त्रिपुरा में 89.8 फीसदी वोटिंग हुई थी।

एग्जिट पोल्स की मानें तो बीजेपी त्रिपुरा में 60 में से 35 से ज्यादा सीटें हासिल कर सकती है। गौरतलब है कि बीते २५ सालों से त्रिपुरा में लेफ्ट की सत्ता काबिज है, लेकिन अब इस बार परिणाम सीपीएम के विरोध में आ सकते हैं। लेफ्ट की सरकार को गिराने में बीजेपी सफल हो सकती है। इस कड़ी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि अगर त्रिपुरा में लेफ्ट की सरकार बनती है तो उन्हें बहुत ही ख़ुशी होगी।

भले ही तृणमूल कांग्रेस राज्य में लेफ्ट पार्टी मुख्य प्रतिद्वंदी हों, लेकिन ममता बनर्जी के इस बयान साफ़ जाहिर होता है कि त्रिपुरा और अन्य राज्यों में भाजपा की सरकार नहीं चाहती हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा में सीपीएम विधायक सुजान चक्रवर्ती को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं विपक्ष विहीन सरकार के पक्ष में नहीं हूं। आप त्रिपुरा में चुनाव हारने की दहलीज पर खड़े हैं। मुझे खुशी होती कि अगर आप बीजेपी को हराने के बड़े मकसद को ध्यान में रखते। उन्होंने कहा कि आप झूठे अहंकार की वजह से गिरते ही चले जा रहे हैं। आप लालू यादव की बीजेपी-विरोधी रैली में भी शामिल हुए।
वहीँ ममता बनर्जी ने 23 मार्च को होने वाले पश्चिम बंगाल की पांच राज्यसभा सीटों पर टीएमसी के प्रत्याशियों को उतारने की नीति से समझौता नहीं किया। पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के पास 34 विधायक हैं, जबकि सीपीएम के पास 29 विधायक हैं। राज्यसभा की एक सीट के लिए दोनों ही पार्टियां इस आंकड़े से नीचे हैं। लेकिन पार्टियों के 12 विधायक भी टीएमसी को समर्थन देने के लिए तैयार हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *