जनता के बीच जाने से डरते नहीं हम…पहले दिन से जनता की अदालत में रहे हैं: मनीष सिसोदिया

January 24, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य क़रार दिए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. पार्टी ने उम्मीद जताई है कि उन्हें अदालत से इन्साफ़ हासिल होगा. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि उन्हें न्यायपालिका में पूरा भरोसा है और इस बात का उन्हें पूरा यक़ीन है कि अदालत से उनकी पार्टी को इंसाफ़ मिलेगा. उन्होंने कहा,”हमारा न्यायपालिक पर पूरा विश्वास है और हमारा पूरा यकीन है कि हमें अदालत से इंसाफ मिलेगा”

सिसोदिया ने कहा कि उच्चतम न्यायलय से उन्हें अगर राहत नहीं मिली तो वो चुनाव के लिए तैयार हैं.उन्होंने कहा,”हम चुनाव से नहीं डरते हैं क्योंकि हम पहले दिन से जनता की अदालत में रहे हैं’.उन्होंने कहा,”हम लोगों से रोज़ाना मिलते हैं लेकिन मैं यह कहना चाहता हूँ कि दिल्ली के लोगों को असंवैधानिक तौर पर चुनावों की ओर ढकेला जा रहा है”इसके पहले मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा था कि हर बार की तरह इस बार भी आख़िर में सच की ही जीत होगी.

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने पार्टी के 20 विधायकों को ‘ऑफिस ऑफ़ प्रॉफिट’ के मामले में अयोग्य घोषित कर दिया था. दिल्ली विधानसभा में 70 में से 67 सीटें आम आदमी पार्टी के पास हैं. इन विधायकों के नाम इस प्रकार हैं- आदर्श शास्त्री, अलका लांबा, संजीव झा, कैलाश गहलोत, विजेंदर गर्ग, प्रवीण कुमार, शरद कुमार चौहान, अवतार सिंह, सुखवीर सिंह डाला, मनोज कुमार, नितिन त्यागी, राजेश गुप्ता, राजेश ऋषि, अनिल कुमार बाजपेई, सोम दत्त, जरनैल सिंह, मदन लाल खुफिया, शिव चरण गोयल, सरिता सिंह, और नरेश यादव.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *