मौलाना तारिक जमील साहब जब अपने मिजाज में बदलाव लाये तो उनकी बीवी ने क्या कहा, खुद तारिक जमील साहब ने बताया…

January 2, 2019 by No Comments

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाह व बरकात दोस्तों आज हम आपके लिए मौलाना तारिक जमील की वीडियो से एक ऐसी बात लेकर आए हैं जिससे आपकी जिंदगी में बहुत फायदा होगा दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब अपने बयान में कहते हैं कि लोग और मौलाना अलमा हमें तबलीग सिखाते हैं अल्लाह का जिक्र सिखाते हैं नमाज ए सिखाते हैं कौन सी खाते हैं लेकिन हमें जिंदगी नहीं सिखाते हैं जिंदगी जीने का तरीका नहीं सिखाते हैं.
बीवी से कैसे सुलूक करना चाहिए मां बाप से कैसे सुलूक करना चाहिए बच्चों से कैसा सुलूक करना चाहिए दोस्तों को यह नहीं सिखाता आज लोग फिरका परस्ती में लगे हुए हैं पब्लिक में लगे हुए हैं लेकिन कोई एक दूसरे के हुक़ूक़ को नहीं समझता है लोग घर के बाहर तबली करते हुए नजर आते हैं लेकिन उनका अखलाक घर के अंदर अच्छा नहीं होता घर के बाहर लोग अच्छे से बातें करते हैं लेकिन घर में मां बाप और बीवी बच्चों से अच्छे से बात भी नहीं करते उनको वक्त भी नहीं देते.

google


दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब कहते हैं कि मैंने अपनी जिंदगी में कभी अपने घर में बदतमीजी नहीं की कभी किसी से झिडक कर बात नहीं की मेरे मिजाज में कभी सख्ती नही थी लेकिन मेरे अल्फ़ाज़ में सख्ती थी वह कहते हैं कि अल्लाह का शुक्र है कि मैंने कभी अपने घर में बदतमीजी नहीं की.
दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब कहते हैं कि अल्लाह ने मेरे ऊपर रहमत की कि 83 में मेरी शादी हुई और 86 में मौलाना सैयद खान साहब रहमत बनकर पाकिस्तान आ गए और उनकी जिंदगी को देखकर लगा कि जिंदगी इसे कहते हैं हुकूक इसे कहते हैं मौलाना कहते हैं कि अल्लाह ताला ने मेरे लिए ही उस बंदे को भेजा था.

google


दोस्तों मौलाना कितने हैं कि उनसे मैंने जिंदगी जीना सीखा यह चीज किताबों से नहीं आती यह चीज सोहबत से आती है उलमा मा से जब करीब होता है तो उसकी जिंदगी बदल जाती है वह कहते हैं कि यह चीजें पढ़कर जिंदगी में नहीं आती है उनको देखकर मुझे पता लगा कि जिंदगी इसका नाम है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *