महत्वपूर्ण बैठक के बाद छत्तीसगढ़ में गठबंधन की रूप-रेखा तय

September 25, 2018 by No Comments

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चुनावी बिगुल फूंकने के बाद बसपा और छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की पहली बैठक आज बिलासपुर में आयोजित की गई। इस दौरान मिलन समारोह में दोनों दलों के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में एकत्रित हुए। इससे कयास लगाया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में इस बार मायावती गठबंधन करके वहां भी खाता खोलेंगी। आपको बता दें कि दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं में उत्साह व जोश नजर आ रहा था जो देखने लायक था ।

गौरतलब है कि दोनों दलों के गठबंधन के बाद बिलासपुर में आज पहली बैठक की गई, जिसमे दोनों ही पार्टी के बड़े नेताओं ने बैठक में भाग लिया। इस दौरान बैठक में विधायक अमित जोगी, सियाराम कौशिक, धर्मजीत सिंह, अनिल, योगेश तिवारी, बसपा प्रभारी डॉ. अशोक सिद्धार्थ, भीम राजभर, एमएल भारती, केशव चंद्रा, ओपी बाजपेयी, दाऊराम रत्नाकर सहित प्रदेश व जिला स्तर के पदाधिकारी व उम्मीदवार भी मौजूद रहे। इस दौरान दोनों दलों के नेता सरकार बनाने के लिए कार्यकर्ताओं को टिप्स देते रहे हैं और उनके अंदर उत्साहित पैदा कर रहे थे ।

छत्तीसगढ़ बसपा प्रदेश अध्यक्ष ओपी बाजपेयी के मुताबिक आयोजित बैठक में दोनों दलों के नेताओं ने रैली की तैयारी पर चर्चा किया। आगामी 13 अक्टूबर को संस्कारधानी बिलासपुर में आयोजित होने वाले महासम्मेलन में बसपा सुप्रीमो बहन मायावती के साथ जनता कांग्रेस के मुखिया अजीत जोगी की संयुक्त सभा में गठबंधन की शक्ति प्रदर्शन में 5 लाख लोगों की भीड़ जुटाने का टारगेट कार्यकर्ताओं को दिया गया है।

मायावती, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्षा


सभी को जिम्मेदारी सौंपी गई है पार्टी कार्यकर्ताओं ने भी इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाने का वादा किया है, वहीं सीटों के टिकट को लेकर दोनों पार्टियों के बड़े नेता विचार विमर्श कर रहे हैं और प्रत्याशियों के नामों का ऐलान 30 सितंबर तक कर देंगे समझौता के आधार पर, अभी फ़िलहाल रैली की तैयारियां जोर शोर पर है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *