मायावती ने अखिलेश और राहुल को दिया धोका, चुनाव में इस जगह पर भाजपा को दिया समर्थन

December 31, 2018 by No Comments

हेलो दोस्तों अगर बात करें राजनीति के बारे में तो जहां आए दिन मैं बदलाव होते रहते हैं हर दिन कोई पार्टी किसी से गठबंधन करती है तो किसी से गठबंधन तोड़ती है अभी जल्द ही पांच राज्यों के चुनाव हुए हैं और परिणाम भी सामने आए हैं अब सभी लोग 2019 के चुनाव की पूरी तरीके से तैयारी में लग गए हैं बात करते हैं अहमदनगर में चुनाव की तो जहां एक तरफ राजनीति में यह मामला गर्म है कि सभी पार्टियां बीजेपी के खिलाफ है.
वहीं दूसरी तरफ से अहमदनगर से यह खबर आई है कि बसपा ने बीजेपी के साथ गठबंधन कर लिया है दोस्तों जल्द ही महाराष्ट्र अहमदनगर में मेयर के चुनाव हुए हैं। और बसपा के समर्थन से बीजेपी के प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है दोस्तों हम सभी जानते हैं कि बसपा की मायावती भले ही बीजेपी के खिलाफ हमलावर रूप धारण किए हैं लेकिन अहमदनगर में बीजेपी के प्रत्याशी का मेयर बन्ना बसपा की मदद से ही हो पाया है.

google


भाजपा के पास 68 सदस्यीय नगर निकाय में से सिर्फ 14 सीटें ही थी लेकिन रांकपा की 18 बसपा की 4 और एक निर्दलीय पार्षद ने उनके पक्ष में मतदान दिया है वहीं शिवसेना 24 सीटों के साथ नगर निकाय में सबसे बड़ी पार्टी है कांग्रेस के 5 सदस्य मतदान से अनुपस्थित थे.
कांग्रेस की एक अधिकारी ने कहा है कि अहमदनगर महानगरपालिका मैं रांकपा कि कदम को पार्टी के प्रदेश नेतृत्व का आशीर्वाद प्राप्त था। कांग्रेस पदाधिकारी ने कहा कि जब तक राकपा स्थानीय लोगों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं करती है और तब तकयह पार्टी स्थानीय नेताओं के खिलाफ कार्यवाही नहीं करती है तब तक उसकी विश्वसनीयता संदिग्ध रहेगी पदाधिकारी ने यह भी कहा कि यही पद्धति राज्य स्तर पर भी दोराई जा सकती है.

google


रांकपा के जयंत पाटील ने कहा कि भाजपा के साथ जाने का स्थानीय नेताओं का फैसला अस्वीकार्य है सूत्रों से पता चला है जब से बसपा के सपोर्ट से भाजपा के प्रत्याशी को मेयर बनाया गया है अहमदनगर में तब से कांग्रेस में बेचैनी बढ़ती दिखाई दे रही है कांग्रेस के नेताओं का परेशान होना जायज भी है और कांग्रेस के नेता बीजेपी और बीएसपी के इस गठबंधन के बारे में सोच विचार कर रहे हैं तथा इससे निपटने की तैयारी भी कर रहे हैं ऐसे में जो सियासी खींचतान है वह काफी दिलचस्प होती जा रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *