बहनजी ने गठबंधन को मजबूत करने के लिए उठाया ये कदम, इतनी सीट दे सकती हैं…

February 7, 2019 by No Comments

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि उत्तर प्रदेश में चुनाव में एक नया मोड़ ले लिया बसपा और सपा का गठबंधन हो गया है सीटों का भी बंटवारा हो चुका है दोनों पार्टी ने अलग अलग रणनीति बना रही है और दोनों पार्टी 38,38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी लेकिन दोस्तों मामला अभी भी फंसा हुआ मामला रोहित को सीट देने का फसा हुआ है.
दोनों पार्टी ने कुल 80 सीटों में से 38 38 ने बांट लिया है जबकि 2 सीटें रालोद के लिए छोड़ दिया गया है जिसके बाद इस बात से रालोद नेता और कार्यकर्ताओं में आक्रोश भरा हुआ है इस बीच जब अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की बातचीत हुई बातचीत के बाद अखिलेश यादव ने मथुरा की सीट रालोद के खाते में डाल दी है.

google


इसके साथ ही रन्नोद की सीट 3 हो गई यानी कि अब रालोद 3 सीट पर चुनाव लड़ेगी इसी के साथ आपको बता दें कि अब बसपा सुप्रीमो मायावती अखिलेश यादव की तरह काम करने जा रहे हैं सूत्रों से पता चला है कि मायावती भी अखिलेश यादव की तरह रनोत को 1 सीट पर चुनाव लड़वा सकती है.
दोस्तों इसी के साथ आपको बता दें कि जब 12 जनवरी को सपा बसपा का गठबंधन हुआ था तो रालोद का नाम तक नहीं लिया गया था इसके बाद रालोद नेता और कार्यकर्ता इस बात से बहुत नाराज हैं और उनके अंदर जबरदस्त आक्रोश देखा गया आपको बता दें कि इस गठबंधन में 4 सीट छोड़ दी गई जिसमें से एक रायबरेली और अमेठी की सीट थी जबकि 2 सीटें रालोद के लिए छोड़ी गई थी.

google


इसके बाद जैन चौधरी की अखिलेश यादव से बातचीत हुई जिसके बाद अब रन्नोद मुजफ्फरनगर मथुरा और बागपत के सीट पर अपना उम्मीदवार खड़ा करेगी अब इसके बाद बसपा हाईकमान से यह खबर आ रही है कि मायावती अपनी एक सीट रालोद को दे सकती हैं हालांकि रालोद की मांग 5 सीटों की थी जिस पर वह चुनाव लाना चाहती थी लेकिन दोस्तों अगर मायावती अपनी एक सीट रालोद के खाते में दे देती हैं तो रालोद 4 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *