लोकसभा चुनाव से पहले ‘बहन जी’ को बढ़त

November 6, 2018 by No Comments

लखनऊ:लोकसभा चुनावों की आहट की गहमा-गहमी के बीच बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में उन नेताओं की घर-वापसी का सिलसिला शुरू हो गया है, जो पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के आरोपों व अन्य कारणों से पार्टी से निष्कासित कर दिए गए थे। कई नेता पहले ही पार्टी में वापस आ चुके हैं, तो कई घर वापसी के लिए वरिष्ठ नेताओं के जरिए बसपा प्रमुख मायावती से सम्पर्क साधकर अपनी वापसी की राह प्रशस्त करने में लगे हैं।बहुजन समाज पार्टी से निष्कासित किए गए छह वरिष्ठ नेताओं की घर वापसी हो चुकी है। सोमवार को मुख्य जोन इंचार्ज व बुंदेलखंड प्रभारी लालाराम अहिरवार ने कालपी रोड स्थित एक होटल में आयोजित बैठक में इन नेताओं की पार्टी में वापसी की घोषणा की।

दरअसल अगले साल 2019 के शुरुआत में लोकसभा चुनाव होने है जिसको लेकर बसपा और अन्य दल भी पहले से ही जिले में अपनी किलेबंदी मजबूत कर रहे है। इसी कड़ी में बसपा ने अपने छह दिग्गज नेताओं की पार्टी में वापसी की घोषणा की। इनमें तीन पूर्व विधायक, एक पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शामिल है। इन नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। बता दे कि पिछले साल नगर निकाय चुनाव के समय पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने का आरोप लगने की वजह से पूर्व विधायक कालपी छोटे सह चौहान, पूर्व विधायक संतराम कुशवाहा, पूर्व विधायक अजय ¨सह पंकज, अवधेश निरंजन पूर्व पालिकाध्यक्ष विजय चौधरी और छुन्ना पाल को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।

अब फिर से बसपा सुप्रीमो के निर्देश पर इन नेताओं को पार्टी में शामिल किया गया है। वहीं राजनीतिक विश्लेषक का मानना है कि विधानसभा चुनाव बुरी तरह से हारने वाली मायावती अब आगामी लोकसभा चुनाव में हर हाल में ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतकर केंद्र में अपनी भूमिका महत्वपूर्ण करना चाहती हैं। इसीलिए वह उन सभी नेताओं पर दांव लगाने से परहेज नहीं करती दिख रही हैं जिनको बाहर भी किया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *