“सबका साथ, सबका विकास” दावे की खुली पोल, इन्साफ के लिए मुस्लिम परिवार को करना पड़ा धर्म-परिवर्तन

October 3, 2018 by No Comments

उत्तर प्रदेश के बागपत में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक मुस्लिम परिवार ने हिन्दू धर्म अपना लिया है. हिन्दू धर्म अपनाने के पीछे जो तर्क परिवार ने दिए हैं उसे सुन कर सबका साथ सबका विकास की हक़ीक़त सामने आ जाती है. परिवार के एक सदस्य की मौ-त की ठीक से जाँच ना होने की वजह से परिवार के सभी सदस्यों ने हिन्दू धर्म अपना लिया. उनका ये सोचना था कि अगर वो हिन्दू हो जाएँगे तो उनकी बात सुनी जाएगी.

परिवार के एक सदस्य धरम सिंह कहते हैं कि मेरा नाम पहले अख्तर अली था लेकिन मैंने अपना धर्म बदल लिया. उन्होंने कहा कि मैंने अपना धर्म इसलिए बदला है क्यूंकि मुझे उम्मीद थी कि पुलिस हिन्दू होने पर हमारी फ़रियाद सुनेगी और जाँच ठीक से करेगी. उन्होंने कहा कि मुस्लिम कम्युनिटी भी हमारे साथ नहीं खड़ी हुई, मोदी के भारत में मुसलमानों के साथ न्याय नहीं होता, मुझे न्याय चाहिए.

इस मामले के आने के बाद से ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. पुलिस के लोग अब इस बारे में बात करने से बच रहे हैं वहीं सोशल मीडिया पर ये बहस तेज़ हो गयी है कि क्या देश में अब स्थिति इतनी बदतर हो गयी है कि एक परिवार को इन्साफ के लिए अपना धर्म बदलना होगा. सोशल मीडिया पर यूजर्स टिपण्णी कर रहे हैं कि किसी को धर्म बदलने की आज़ादी है और कोई भी अपनी मर्ज़ी से किसी भी धर्म को छोड़ सकता है या अपना सकता है लेकिन सरकार से इंसाफ़ ना मिल पाने की वजह से कोई अगर धर्म बदल रहा है तो “सबका साथ-सबका विकास” दावे की पोल खुल जाती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *