‘ना खाऊँगा, ना खाने दूँगा’ कहते थे..लेकिन ये क्या हो रहा है?: शिव सेना

February 17, 2018 by No Comments

नीरव मोदी के 11 हज़ार करोड़ लेकर भाग जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. विपक्ष के अलावा भाजपा के सहयोगी भी ये सवाल कर रहे हैं कि आख़िर नीरव मोदी को देश छोड़ने क्यूँ दिया गया. भाजपा भले ही अपना दामन बचाने के लिए पूर्व की UPA सरकार पर निशाना साध रही हो लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि अगर इस समय वो विदेश है तो मौजूदा सरकार की लापरवाही का नतीजा है.

शिवसेना ने भी इस मुद्दे पर भाजपा को घेरना शुरू कर दिया है. शिवसेना नेत्री मनीषा कयंडे कहती हैं कि जहाँ सामान्य आदमी आज बैंक से डरता है वहीँ ललित मोदी, नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे लोग पैसे उड़ा कर भाग रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये सब सरकार की नाक के नीचे से हो रहा है.

उन्होंने एक बयान में कहा,”मोदी जी ने सपना दिखाया था ‘ना खाऊँगा, ना खाने दूँगा’, लोगों ने इसीलिए भर के वोट दिया था, पर ये क्या हो रहा है?सामान्य आदमी आज बैंक से डरता है और ललित मोदी, नीरव मोदी, और विजय माल्या सब भाग गए, सरकार की नाक के नीचे से”. देखा जाए तो इस सवाल का जवाब भाजपा के किसी नेता के पास नहीं है कि नीरव मोदी कैसे भाग गया.

विदेश मंत्रालय ने कल दिए एक बयान में कहा कि नीरव मोदी कहाँ है इसके बारे में उन्हें नहीं पता है लेकिन उसका पासपोर्ट निरस्त कर दिया गया है तो वो देश बदल नहीं पायेगा. सरकार की तरफ़ से आ रहे ये बयान किसी भी तरह की तसल्ली नहीं देते, बल्कि सवालों को और गहरा कर देते हैं.

अगर आप भारत दुनिया से जुड़ना चाहते हैं तो हमें इस पते पर ई-मेल भेजें @arghwanbharat@gmail.com

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *