देश को धोखा देने की सोच भी नहीं सकता, इससे अच्छा मरना पसंद करूँगा: मोहम्मद शमी

March 10, 2018 by No Comments

भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहाँ ने उनपर गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसके बाद मोहम्मद शमी काफी मुश्किल में आ गए हैं। शमी टीम इंडिया के तेज तर्रार गेंदबाज़ों में शुमार हैं। हसीन जहां ने शमी के खिलाफ पांच पन्नों की एफआईआर दर्ज कराते हुए उन पर रेप, हत्या और घरेलू हिंसा के गंभीर आरोप लगाए हैं। शमी पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की सात धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

शमी के खिलाफ आईपीसी की धारा 498ए (पति या पति के रिश्तेदारों द्वारा महिला का उत्पीड़न), 323 (मारपीट), 307 (जान से मारने की कोशिश, 376 (महिला के साथ बलात्कार), 506 (आपराधिक धमकी), 328 (अपराध करने के मकसद से जहर इत्यादि द्वारा नुकसान पहुंचाना) और धारा 34 (किसी भी अपराध को अंजाम देने के लिए साझा साजिश करना) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इन आरोपों के बारे में खुले तौर पर बात करने के लिए शमी ने मीडिया का सहारा लिया। इस दौरान वह काफी भावुक भी हो गए। उन्‍होंने कहा जहां तक देश के लिए खेलते हुए अपने प्रदर्शन के साथ समझौता करने की बात है तो मैं ऐसा कुछ करने के बजाय मरना पसंद करूंगा।

शमी ने कहा कि हसीन और उनके परिवार के लोग कह रहे हैं कि हम बैठकर इन सब मुद्दों पर बातचीत करेंगे लेकिन मैं नहीं जातता कि उसे कौन बरगला रहा है। साल 2014 में हमारी शादी हुई थी। अगले साल बच्ची हुई, जिसका नाम आयरा है। हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत खुश थे।

मुझे खुद नहीं समझ में आ रहा है कि अचानक से स्थितियां कैसे बदलीं। मेरी यही कोशिश रहेगी कि घर की बात घर के अंदर खत्म हो जाए। उन्होंने बताया, “झगड़े और बहस तो जिंदगी का हिस्सा हैं। जहां प्यार होगा, वहां झगड़े भी होंगे। इस पूरे घटनाक्रम के पीछे कुछ तो है, जो हम पकड़ नहीं पा रहे हैं।

पत्‍नी की ओर से लगाए गए आरोपों के बाद शमी पर उस समय भारी मार पड़ी जब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने वार्षिक कांट्रेक्‍ट सिस्‍टम ने बाहर रखने का निर्णय लिया। पिछले साल शमी को कांट्रेक्‍ट की ‘बी’ कैटेगरी में रखा था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *