पहली बार नेताजी ने फटकारा,झलका शिवपाल का दर्द, जानें क्या कहा ??

September 25, 2018 by No Comments

लखनऊ. समाजवादी पार्टी से अलगाव के बाद शिवपाल यादव ने 29 अगस्त को समाजवादी सेकुलर मोर्चा बनाने की घोषणा की थी ।तब उन्होंने कहा था कि उनके मोर्चे को नेता जी मुलायम सिंह यादव का समर्थन हासिल है ।

उन्होंने आगे कहा था यह मोर्चा मुलायम सिंह यादव ही नहीं बल्कि उन सभी लोगों का सम्मान करेगा जो सपा में अलग-थलग हैं। लेकिन रविवार को मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव के साथ मंच साझा कर के स्पष्ट संकेत दे दिये कि वह समाजवादी पार्टी को छोड़कर कहीं नहीं जा रहे हैं ।

इस घटनाक्रम से शिवपाल यादव बुरी तरह आहत हुए हैं, उनके बयान से उनका दर्द साफ महसूस किया जा सकता है। उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि बहुत से लोगों को बिना मेहनत के बहुत कुछ मिल जाता है।

कुछ लोगों को मेहनत से भी नहीं मिलता। साफ तौर पे उनके निशाने पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ही थे ।दरअसल वह लखनऊ में सहकारिता भवन में एक कार्यक्रम में उपस्थित थे वहीं उन्होंने यह बात कही ।

लेकिन लगता है अब शिवपाल यादव ने भी अपनी लड़ाई अकेले लड़ने का मन बना लिया है और संगठन पे काम शुरू कर दिया है ।उन्होंने सेक्युलर मोर्चा के मंडल प्रभारियों के नाम का ऐलान भी कर दिया है । इसमें लखनऊ में राम सिंह यादव,फैजाबाद में प्रेम प्रकाश वर्मा,कानपुर में रघुराज सिंह शाक्य,आजमगढ़ में राम दर्शन यादव, इलाहाबाद में प्रकाश राय,गोरखपुर में एमपी यादव,अलीगढ़ में रक्षपाल सिंह, आगरा मंडल में देवेंद्र गुप्ता, झांसी में विष्णुपाल सिंह, वाराणसी में देवेंद्र सिंह,, बस्ती में बाबू राम निषाद, बरेली में फरहत मियाँ, मिर्जापुर में जय सिंह और मेरठ में डा. त्यागी प्रभारी बनाये गए हैं।

उन्होंने अपने दल के प्रवक्ताओ की सूची भी जारी कर दी है । उन्होंने शारदा प्रताप शुक्ला, सैयद शादाब फातिमा, दीपक मिश्र, नवाब अली अकबर, सुधीर सिंह, प्रो. दिलीप यादव, अभिषेक सिंह आशू, मोहम्मद फरहत रईस खान तथा अरविंद यादव को प्रवक्ता बनाया है।

उल्लेखनीय है कि शिवपाल यादव को संगठन खड़ा करने का अच्छा अनुभव है ।उत्तर प्रदेश मे समाज वादी पार्टी को संगठित करने और उसे सत्ता तक पहुँचाने मे शिवपाल यादव का अहम योगदान रहा था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *