नेताजी की पैंतरे-बाज़ी से शिवपाल समर्थक दंग

October 31, 2018 by No Comments

सपा नेता मुलायम सिंह यादव ने नया संगठन खड़ा करने वाले भाई शिवपाल सिंह यादव से मुलाकात के कुछ ही घंटे बाद सपा मुख्यालय जाकर कार्यकर्ताओं को असमंजस की स्थिति में डाल दिया है। जब अचानक सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पार्टी के 6 लाल बहादुर शास्त्री के दफ्तर पहुंच गए. यहां पीएसपी लोहिया के कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव का गर्मजोशी से स्वागत किया. सपा संस्थापक ने दोनों ही खेमों में कार्यकर्ताओं के साथ समय बिताया। एक खेमे की अगुवाई उनके बेटे अखिलेश यादव कर रहे हैं जबकि दूसरा खेमा शिवपाल यादव का है। शिवपाल की पार्टी ‘प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया’ है। अब जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में कुछ ही महीने बचे हैं, मुलायम के दोनों जगहों पर जाने से सपा समर्थक असमंजस में हैं।

समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव जब अपने भाई शिवपाल यादव और उनके समर्थकों से मुलाकात की तो वह शिवपाल की पार्टी और मूल सपा के बीच कन्फ्यूज होते रहे. इस मौके पर शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह से अपनी पार्टी का अध्यक्ष बनने की पेशकश की. शिवपाल ने कहा, ‘मैंने नेताजी (मुलायम) को पार्टी अध्यक्ष पद और मैनपुरी सीट से टिकट की पेशकश की है. हमारी पार्टी लोहिया के विचारधारा को आगे बढाएगी.’ मुलायम ने हालांकि इस पर कोई जवाब नहीं दिया.इस मौके पर मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल समर्थकों को संबोधित किया. अपने भाषण में वह बार बार समाजवादी पार्टी का नाम लेते रहे. इस पर शिवपाल ने उन्हें टोका की अब ये प्रगतिशील समाजवादी पार्टी हो गई, जिस पर मुलायम ने कहा कि ये ज़रूरी था.

कुश्ती में अपने विरोधी को पस्त करने के लिए चरखा दांव लगाने में माहिर समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव अब राजनीति में इस दांव का पूरा मजा ले रहे हैं। राजनीति में मुलायम सिंह यादव न तो पुत्रमोह छोड़ पा रहे हैं और न ही भ्रात प्रेम। दरअलस शिवपाल सिंह यादव से मुलाकात करने के तुरंत बाद मुलायम सिंह यादव अपने बेटे अखिलेश यादव के घर उनसे मिलने चले गए । इस पूरे वाक्या से हर कोई अचंभित रह गया , किसी को कुछ समझ नही आया कि नेताजी क्या चाहते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *