भीमा-कोरेगांव हिंसा: मुंबई पुलिस ने रद्द किया जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद का कार्यक्रम

January 4, 2018 by No Comments

महाराष्ट्र: पुणे के भीमा-कोरेगांव में हुई हिंसा को पूरे राज्य में बढ़ता हुआ को मुंबई पुलिस ने बढ़ती हुई हिंसा को देखते हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर विधायक बने दलित नेता जिग्नेश मेवानी और JNU के छात्र उमर खालिद के एक प्रोग्राम को रद्द कर दिया।

ये कार्यक्रम विले-पार्ले में भाईदास हॉल में ऑल इंडिया नेशनल स्टूडेंट्स समिट 2018 के बैनर तले होने वाला था। पुलिस ने कार्यक्रम के आयोजक विद्यार्थियों को भी हिरासत में ले लिया है।

हालांकि इस मामले में कल जिग्नेश ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर राज्य के लोगों से शांति की अपील करते हुए ट्वीट किया, “महाराष्ट्र सरकार को कानून एवं व्यवस्था को सुनिश्चित करना चाहिए… मैं महाराष्ट्र की जनता से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं…”

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि यहाँ से कितने छात्रों और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है इसकी जानकारी अभी मौजूद नहीं है। दरअसल जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद ने 31 दिसंबर को भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं वर्षगांठ मनाने के लिए ‘एलगर परिषद’ नामक कार्यक्रम में शिरकत की थी।

जिसके बाद दक्षिणपंथी गुटों ने जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद पर राज्य में जातीय तनाव भड़काने का आरोप लगाया है। शिकायतकर्ताओं ने आरोप है कि जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद ने कार्यक्रम के दौरान भड़काऊ भाषण दिया था जिसके चलते दो समुदायों में हिंसा हुई।
मुंबई में कथित रूप से दलित समर्थक प्रदर्शनकारी सड़क और रेल यातायात को बाधित कर दिया। उनके भाषण के अगले ही दिन जश्न में शामिल होने गांव पहुंचे दलितों और कुछ स्थानीय दक्षिणपंथी गुटों के बीच झड़पें हो गईं। इन हिंसक झड़पों में 28 साल के एक युवक की मौत भी हो गई और कई लोग ज़ख्मी हुए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *