मुसलमानों को लेकर बोली प्रियंका, बोली-मुझे इस्लाम है पसंद, मेरे पापा मस्जिद जाते थे और नमाज़..


अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बना चुकी है। अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा बॉलीवुड से ज्यादा आजकल हॉलीवुड प्रोजेक्ट में बिजी हैं। इसके साथ ही प्रियंका चोपड़ा आजकल अपनी शादीशुदा जिंदगी को भी ज्यादा समय दे रही है।

अक्सर सोशल मीडिया पर प्रियंका चोपड़ा और उनके पति निक जोनस की तस्वीरें वायरल होती रहती है। प्रियंका चोपड़ा ने अपने फिल्मी करियर में काफी संघर्ष किया है। प्रियंका चोपड़ा के करियर में जैसे ही उड़ान भरी थी। उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज बॉलीवुड में प्रियंका चोपड़ा को देसी गर्ल के तौर पर जाना जाता है।

वहीँ हॉलीवुड में भी उनकी एक अलग पहचान बन चुकी है। प्रियंका चोपड़ा ने दुनियाभर में अपने परिवार का नाम रोशन किया है। प्रियंका चोपड़ा अभिनेत्रियों वैसे भी एक है। जो हमेशा अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल जिंदगी के बारे में खुलकर बातचीत करना पसंद करती है।

बताया जाता है कि प्रियंका चोपड़ा अपने पिता के काफी करीब थी . अक्सर वह अपने पिता को याद करती रहती है। प्रियंका चोपड़ा सभी धर्मों का सम्मान करती है। इस संदर्भ में उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उनके परिवार ने ही उन्हें सिखाया है कि सभी ध’र्मों को बराबरी से सम्मान दिया जाए।

अपनी परवरिश के बारे में बातचीत करते हुए प्रियंका ने बताया कि उनके पिता ने उन्हें सिखाया था कि हर धर्म बराबर होता है और उसे बराबर का सम्मान देना चाहिए। उनकी जिंदगी में भगवान के मायने क्या है और हाई पावर को लेकर उनका दृष्टिकोण कैसा है।

इस बारे में प्रियंका चोपड़ा ने बात करते हुए कहा कि भारत में कई धर्म प्रचलित हैं। जिनका प्रभाव उन पर बहुत पड़ा है। वही प्रियंका चोपड़ा ने पढ़ाई एक क्रिश्चियन स्कूल से की है इस वजह से उन्हें ईसाई धर्म के बारे में जानकारी मिली। प्रियंका का दावा है कि उनके पिता मस्जिद में गाते थे।

इसी वजह से उन्हें इ’स्लाम के बारे में जानकारी हासिल हुई। प्रियंका चोपड़ा के घर में उनका एक मंदिर है। जिसकी वजह से उन्हें हिं’दू ध’र्म को समझने में आसानी हुई। प्रियंका चोपड़ा बताती है कि उनके पिता कहा करते थे कि भले ही सभी धर्म अलग अलग है लेकिन उन सब का सार एक ही है।