मुज़फ्फ़रनगर दंगे के आरोपी भाजपा विधायक की आँखों में खटक रहा है ताजमहल

October 16, 2017 by No Comments

आगरा/लखनऊ: भारतीय संस्कृति की एतिहासिक धरोहरों में सबसे ज़्यादा मशहूर अगर कोई धरोहर है तो वो ताजमहल ही है लेकिन कुछ नेताओं की आँखों में “वाह ताज” खटक रहा है. कुछ ऐसे नेता हैं जिन्हें भारत के इतिहास की समझ हो ना हो लेकिन उसे बदलने की ज़िद ज़रूर है.

ताजमहल के ऊपर चल रहे विवाद में भाजपा विधायक और मुज़फ्फ़रनगर दंगों के आरोपी संगीत सोम ने एक बयान दिया है. उन्होंने ताजमहल को भारतीय कल्चर पर एक धब्बा बताया है.

भड़काऊ भाषण देने के लिए मशहूर सोम का कहना है कि ताजमहल जिसने बनवाया था उसने अपने पिता को जेल करवा दी थी. उन्होंने कहा कि अगर ये इतिहास है तो ये दुःख की बात है और हम इतिहास बदल देंगे.

विवादित भाजपा नेता हालाँकि कुछ भी कहें लेकिन उन्हीं की पार्टी अब ताजमहल के पक्ष में बयान दे रही है.असल में ये विवाद उस समय शुरू हुआ जब उत्तर प्रदेश की एतिहासिक धरोहरों के बारे में एक बुकलेट जारी हुई और उसमें ताजमहल को जगह नहीं दी गयी. आलोचना से घिरने के बाद प्रदेश की टूरिज्म मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने साफ़ किया था कि ताजमहल हमारी कल्चरल हेरिटेज है और इसको दुनिया की सबसे मशहूर टूरिस्ट प्लेस में शुमार किया जाता है.

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भी इसको “miscommunication” माना. वहीँ जून में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि ताजमहल भारतीय कल्चर को नहीं दर्शाता है.

मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज बेगम की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया था. इसके आर्किटेक्ट उस्ताद अहमद लाहौरी थे और इसके निर्माण में 21 साल का लम्बा समय लगा था. हर वर्ष ताजमहल को देखने के लिए 70 से 80 लाख टूरिस्ट आते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *