मैं पहले ही दिन से अन्याय का सामना कर रही हूँ: नजीब अहमद की माँ

October 9, 2018 by No Comments

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी के छात्र नजीब अहमद को लापता हुए दो साल हो चुके हैं लेकिन सीबीआई इस मामले में कोई सुराग़ निकालने में नाकामयाब साबित हुई है. जहाँ सीबीआई ने closure रिपोर्ट दाख़िल कर दी है वहीं नजीब के परिवार ने सीबीआई पर भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाया है.

नजीब अहमद की माँ ने सोमवार को आरोप लगाया कि सीबीआई ने इस मामले में “पक्षपातपूर्ण” जांच की। दिल्ली उच्च न्यायालय ने इस मामले में सीबीआई को ‘क्लोजर रिपोर्ट ’ दाखिल करने की सोमवार को इजाजत दे दी। इस तरह, मामले की जांच अब बंद होने वाली है।

उच्च न्यायालय नजीब की माँ फातिमा नफीस के इस आरोप से सहमत नहीं हुआ कि सीबीआई राजनीतिक मजबूरियों के चलते क्लोजर रिपोर्ट रिपोर्ट दाखिल करना चाहती है। नफीस ने कहा कि वह इस फैसले के बाद अब उच्चतम न्यायालय में अपील करेंगी। उन्होंने ऐसी सभी माताओं से अपील की कि वे 15 अक्टूबर को संसद मार्ग पर मार्च करें जिन्होंने अपने बच्चों को खोने के दुख का सामना किया है।

उच्च न्यायालय के फैसले के बाद नफीस जेएनयू छात्र संघ के पदाधिकारियों के साथ विश्वविद्यालय परिसर में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं दुखी हूं क्योंकि सीबीआई ने पक्षपातपूर्ण तरीकों से जांच की और उसका एकमात्र मकसद उन लोगों को बचाना था जिन्होंने मेरे बेटे पर हमला किया। मैं पहले ही दिन से अन्याय का सामना कर रही हूं।’’ उन्होंने दिल्ली पुलिस की जांच पर सवाल उठाए।

आपको बता दें कि नजीब अहमद के लापता होने के बाद परिवार और नजीब के कुछ दोस्तों ने ABVP से जुड़े लोगों पर शक ज़ाहिर किया था. लापता होने के ठीक पहले ABVP के कार्यकर्ताओं का नजीब से झगड़ा भी हुआ था.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *