सिद्धू ने की मृत दक्षिणपंथी नेता के परिवार से मुलाक़ात, किया ये बड़ा ऐलान…

अमृतसर: बीते हफ्ते पंजाब के अमृतसर में दक्षिणपंथी दक्षिणपंथी संगठन हिंदू संघर्ष सेना के जिला प्रधान विपिन शर्मा की बाजार में ही गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। विपन शर्मा की हत्या के बाद पहली बार निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू उनके परिवार से मुलाकात करने पहुंचे। जहाँ पर उन्होंने शोकाकुल परिवार को धीरज बंधाया।
सिद्धू ने उन्हें दिलासा देते हुए कहा कि विपन शर्मा के हत्यारे जल्द गिरफ्तार हो जायेंगे। इसके साथ पंजाब सरकार ने मृतक परिवार को पांच लाख रुपये और सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। इस दौरान सिद्धू के साथ कांग्रेस पार्टी के विधायक डा. राज कुमार वेरका तथा सुनील दत्ती भी मौजूद थे।

वहां मौजूद मीडिया से बातचीत करते सिद्धू ने कहा कि राज्य में इस तरह की घटनाओं का होना बहुत दुःख की बात है। सभी राजनीतिक दलों के नेताओं को आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि वह विपन हत्याकांड को लेकर किसी भी तरह से राजनीति न करें।
हालांकि सिद्धू ने पंजाब की पूर्व बादल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सभी गैंगस्टर और माफिया उन्ही की ही देन हैं लेकिन हम इनपर जल्द ही शिकंजा कसेंगे। इसके लिए सीएम अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ में विशेष बैठक बुला कर पंजाब की कानून व्यवस्था को ठीक करने के लिए कई कड़े कदम भी उठाए गए हैं।

विपन शर्मा की हत्या पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी रोष व्यक्त किया था। अमरिंदर सिंह ने डीजीपी सुरेश अरोड़ा को जल्द हत्यारों को गिरफ्तार करने के आदेश जारी किए हैं। सिद्धू ने कहा है कि हत्यारों को जल्द ही पकड़ में लिया जायेगा और जेल में उनकी सुरक्षा सुनिश्चित ढंग से होगी। सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा है कि राज्य में ऐसी घटनाएं न हो, इसके लिए पुलिस को अब विशेष अधिकार दिए जाएंगे।

क्यूंकि पंजाब की खुशहाली और विकास के लिए ऐसी देश विरोधी ताकतों को खत्म करना बहुत अच्छी तरह से जानते हैं। आपको बता दें की हिंदूवादी संगठनों ने इस हत्या के पीछे खालिस्तानी आतंकियों का हाथ होने की आशंका जताई है।
पंजाब हिंदू सेना ने इस घटना की निंदा की थी। वहीँ प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राजेश पाल्टा ने आरोप लगाया था कि 1 महीने में ये दूसरे हिन्दू नेता की हत्या है। एक के बाद एक हो रही हिंदू नेताओं की हत्या से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि पंजाब एक बार फिर से आतंकवाद की गिरफत में आ रहा है। लेकिन कैप्टन सरकार का दावा है कि वे जल्द ही इस पर काबू पा लेंगे।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.