“नेहरु ने हमेशा फ़ासीवाद के ख़िलाफ़ खुल कर बात रखी”

February 18, 2018 by No Comments

लखनऊ में कल “वर्तमान राजनीतिक सदर्भ और नेहरु” विषय गोष्टी का आयोजन किया गया. इस गोष्टी में शहर के वैचारिक लोगों ने हिस्सा लिया. इस गोष्टी में कहा गया कि भारत में नेहरु के विचार चट्टान की तरह हैं और दक्षिणपंथी ताक़तें कितनी ही कोशिशें कर लें ये उन विचारों को ख़त्म नहीं कर सकेंगी.

भारत में दक्षिणपंथी विचार के आगे बढ़ने पर कहा गया कि इन ताक़तों से लड़ने के लिए वैज्ञानिक सोच का विस्तार करने की ज़रुरत है.इसमें कहा गया कि वैज्ञानिक विचार के साथ धर्मनिरपेक्षता का भी विस्तार करना होगा. अधिनिकता का संबंध मूल्यों से है जो संघर्ष और आंदोलन से निर्मित होता है जबकि आधुनिकरण केवल तकनीकी विकास तक सीमित है । यह बात जन विचार मंच द्वारा वर्तमान राजनैतिक संदर्भ और नेहरू विषय पर कैफ़ी आज़मी सभागार में आयोजित संगोष्ठी में गुजरात सेंटल यूनिवर्सिटी के असिस्टेन्ट प्रोफेसर डॉ धनंजय कुमार राय ने कहीं ।

गोष्टी को संबोधित करते हुए लखनऊ यूनिवर्सिटी के पूर्व प्रोफेसर रमेश दीक्षित ने कि कहा कि नेहरू ने हमेशा दिमाग की बात की है, आने वाला भारत समतावादी हो उसके लिए छात्रों , किसानों सब वंचितों की एकता ज़रूरी थी । नेहरू ने हमेशा फांसीवाद के खिलाफ खुलकर बात रखी ।गोष्टी की अध्यक्षता गिरी इंस्टीटूट के निदेशक प्रोफेसर सुरेंद्र कुमार ने तथा संचालन प्रोफेसर नदीम हसनैन ने किया ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *