नीतीश बहुत चाहते हैं शरद यादव को हटाना लेकिन हटा नहीं सकते, जानिये इसके पीछे का कारण

August 12, 2017 by No Comments

पटना: जदयू के अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी पार्टी के अन्दर चल रही खींचतान से ख़ासे परेशान हैं| उन्होंने महागठबंधन तोड़ कर भाजपा से हाथ मिला तो लिया लेकिन शायद ये करने में उनसे भारी राजनीतिक चूक हो गयी है| उनके इस फ़ैसले के बाद पार्टी में उनके ख़िलाफ़ बड़ी बग़ावत हो गयी है| गुजरात और केरल से तो जदयू नेताओं ने नाराज़गी भरे सन्देश भेजे ही लेकिन राज्यसभा सांसद शरद यादव और अली अनवर ने खुली बग़ावत कर के पार्टी को लगभग तोड़ दिया है|

समाजवादी राजनीति करने वालों में शरद यादव का बड़ा सम्मान है| उनके पार्टी में बने रहने से जदयू की सेक्युलर छवि बचाई जा सकती थी लेकिन अब उनका जाना पार्टी से लगभग तय है| वहीँ अली अनवर पर तो पहले ही कार्यवाही हो चुकी है| शरद यादव को पार्टी के नीतीश कैंप के नेता केसी त्यागी और ख़ुद नीतीश कुमार हटाना चाहते हैं लेकिन वो ऐसा कर नहीं सकते|

असल में शरद यादव को अगर नीतीश कुमार निकाल देते हैं तो उनकी राज्यसभा सदस्यता बरक़रार रह जायेगी जबकि यादव अगर ख़ुद इस्तीफ़ा दें तो उन्हें राज्यसभा सांसद के पद को भी छोड़ना पड़ेगा| ऐसी अवस्था में शरद यादव चाहते हैं कि नीतीश उन पर कार्यवाही कर दें लेकिन नीतीश जानते हैं कि इससे उनको राज्यसभा सीट का नुक़सान होगा| नीतीश ने लेकिन यादव को आज राज्यसभा में जदयू नेता के पद से हटा दिया|

जानकारों के मुताबिक़ शरद यादव अब जितने भी दिन पार्टी में रहेंगे जदयू को भयंकर नुक़सान होगा और उनके ख़िलाफ़ कार्यवाही में जितना वक़्त लगेगा उतनी ही जदयू टूटेगी| इस मामले में नीतीश पूरी तरह से फँस गए हैं| कुछ जानकारों के मुताबिक़ अब नीतीश कुमार की राजनीति ख़त्म हो जायेगी|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *