‘मैं पैसे ले सकता हूँ.. ये तो किसी के कहने की औक़ात भी नहीं है और ये भाजपा को भी पता है’

गांधीनगर: गुजरात के पाटीदार आन्दोलन के नेता हार्दिक पटेल के लिए कुछ मुश्किलें बढ़ गयी हैं. 2015 के मामले में हार्दिक के ख़िलाफ़ एक अदालत ने ग़ैर-ज़मानती वारंट जारी किया है.

हार्दिक पटेल ने इस बारे में बयान देते हुए कहा है कि अगर उन्हें गिरफ़्तार किया जाएगा तो सरेंडर हो जायेंगे. पाटीदार नेता ने साथ ही कहा कि अगर उन्हें गिरफ़्तार किया गया तो वो ये मानेंगे कि भाजपा डरी हुई है. उन्होंने बताया कि उनके गिरफ़्तार होने से आन्दोलन नहीं रुकेगा.

हार्दिक ने इसके अलावा ट्विटर के ज़रिये भी अपनी बात रखी. उन्होंने ट्वीट किया,”आज भी गाँवो में सड़क अच्छी नहीं हैं।गाँव की जनता परेशान हैं।किसान को बिजली सिर्फ़ रात में आठ घंटे मिलते हैं.” उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा,”आज़ाद हिंदुस्तान में सभी को अधिकार है आंदोलन करने का लेकिन गुजरात में BJP के पास अत्याचार करने का अधिकार हैं.”

वो बोटाद में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. हालाँकि वो चुनाव के मामले में दोनों पार्टियों (भाजपा और कांग्रेस) को शुभकामनाएँ देते हैं लेकिन वो भाजपा का विरोध करने से नहीं चूकते. वो कहते हैं,”भाजपा को तो मालूम भी नहीं की विपक्ष में हार्दिक है या कोंग्रेस !!”

इस सवाल पर कि क्या उन्हें कांग्रेस से पैसे मिले हैं, वो कहते हैं कि किसी की भी औक़ात नहीं है कि वो ये कह दे कि उन्होंने पैसे लिए. उन्होंने कहा कि भजपा ये बात जानती है और वो भी मुझे पैसे ऑफर कर चुकी है.

गुजरात में कल चुनावों की घोषणा भी हो गयी है.चुनाव दो चरणों में होगा, पहला चरण 9 और दूसरा 14 दिसम्बर को होगा. इस चुनाव में हार्दिक पटेल की अहम् भूमिका मानी जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.