न सुरक्षा, न शिक्षा, न पोषण, महिलाओं को मिला तो सिर्फ़ शोषण: राहुल गाँधी

December 3, 2017 by No Comments

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पाँचवा सवाल पूछा है. इस सवाल में उन्होंने महिला सुरक्षा को मुद्दा बनाया है.इसके अलावा महिला सुरक्षा और महिला-स्वास्थ भी उन्होंने इसमें शामिल किया है. उन्होंने ’22 सालों का हिसाब, #गुजरात_मांगे_जवाब’ लिखने के साथ ट्वीट किया है,”प्रधानमंत्रीजी- 5वाँ सवाल: न सुरक्षा, न शिक्षा, न पोषण, महिलाओं को मिला तो सिर्फ़ शोषण, आंगनवाड़ी वर्कर और आशा, सबको दी बस निराशा।गुजरात की बहनों से किया सिर्फ़ वादा,पूरा करने का कभी नहीं था इरादा।”

राहुल गाँधी ट्विटर के ज़रिये रोज़ एक सवाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कर रहे हैं. कल उन्होंने पूछा था,”सरकारी स्कूल-कॉलेज की कीमत पर,किया शिक्षा का व्यापार..महँगी फ़ीस से पड़ी हर छात्र पर मार, New India का सपना कैसे होगा साकार?, सरकारी शिक्षा पर खर्च में गुजरात देश में 26वें स्थान पर क्यों? युवाओं ने क्या गलती की है?” राहुल ने इसके पहले ये सवाल किया था कि 2002-16 के बीच ₹62,549 Cr की बिजली ख़रीद कर 4 निजी कंपनियों की जेब क्यों भरी?सरकारी बिजली कारख़ानों की क्षमता 62% घटाई पर निजी कम्पनी से ₹3/ यूनिट की बिजली ₹24 तक क्यों ख़रीदी?जनता की कमाई, क्यों लुटाई?

राहुल ने इसके पहले दो और सवाल पूछे हैं.उन्होंने एक सवाल इस बारे में पूछा था कि जब 2012 में भाजपा ने ये वादा किया था कि 50 लाख घर देगी तो 5 साल में 4 लाख 72 हज़ार घर ही क्यूँ दिए गए. उन्होंने पूछा था कि क्या प्रधानमंत्री को ये वादा पूरा करने में 45 और साल लगेंगे. एक और सवाल उन्होंने गुजरात पर लगातार बढ़ रहे क़र्ज़ के बारे में पूछा है. उन्होंने अपने दूसरे सवाल में कहा था कि 1995 में गुजरात पर 9,183 करोड़ रूपये का क़र्ज़ था जो 2017 में बढ़ कर 2,41,000 करोड़ रूपये पहुँच गया है. उन्होंने कहा कि इस लिहाज़ से हर गुजराती पर 37000 करोड़ रूपये का क़र्ज़ है. उन्होंने पूछा कि आपके वित्तीय कुप्रबन्धन व पब्लिसिटी की सज़ा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *