नार्थ कोरिया के ख़िलाफ़ बस एक ही चीज़ काम आएगी: डोनाल्ड ट्रम्प

वाशिंगटन डीसी: अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है जिसका अर्थ नार्थ कोरिया पर सैन्य कार्यवाही से निकाला जा रहा है. उन्होंने शनिवार को ट्विटर के ज़रिये कहा कि राष्ट्रपतियों ने और उनके प्राशासन ने 25 साल नार्थ कोरिया से बात की, समझौते किये गए और ख़ूब पैसा दिया गया.

ट्रम्प ने कहा कि लेकिन ये सब नहीं चल सका, सियाही सूखने से पहले ही समझौते तोड़ दिए गए और अमरीकी मध्यस्थों का मज़ाक़ उड़ाया गया.

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा,”माफ़ कीजिये, लेकिन सिर्फ़ एक ही चीज़ ऐसी है जो काम आएगी”

हालाँकि ट्रम्प ने ये साफ़ नहीं किया है कि वो कौन सी चीज़ होगी लेकिन जानकार इसे सैन्य कार्यवाही की ओर इशारा ही बता रहे हैं. इसके पहले भी ट्रम्प कह चुके हैं कि अमरीका नार्थ कोरिया नेस्तनाबूद कर देगा.

नार्थ कैरोलिना का दौरा करने जा रहे ट्रम्प से जब पत्रकारों ने इस बारे में सवाल किया कि वो क्या चीज़ है तो उन्होंने कहा कि आपको पता चलेगा.

गौरतलब है कि नार्थ कोरिया और संयुक्त राज्य अमरीका के बीच लगातार रिश्ते बिगड़ते जा रहे हैं. नार्थ कोरिया एक ओर लगातार परमाणु परीक्षण कर रहा है तो दूसरी ओर अमरीका इसे ख़ुद पर ख़तरा मान रहा है. अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के उस बयान जिसमें उन्होंने नार्थ कोरिया को नेस्तनाबूद करने की बात कही थी उस पर नार्थ कोरिया ने कड़ी प्रतिक्रिया ज़ाहिर करते हुए कहा था कि ये अमरीका द्वारा उसके ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा है.नार्थ कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो ने कहा था कि अब उनके देश के पास ये अधिकार है कि वो US बोम्बेर्स को कहीं भी मार गिराएं.उन्होंने कहा कि सिर्फ़ वही US बोम्बेर्स नहीं जो नार्थ कोरिया के स्पेस में हैं बल्कि ये उन US बोम्बेर्स पर भी लागू होगा जो नार्थ कोरिया के एयरस्पेस में नहीं होंगे.नार्थ कोरिया जल्दी जल्दी में अमरीका ने अपना पक्ष क्लियर किया और कहा कि हमने कोई युद्ध की घोषणा नहीं की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.