‘कौन हैं मोहन भागवत, सुप्रीम कोर्ट हैं?चीफ़ जस्टिस हैं या बादशाह हैं?..देश क़ानून से चलता है!’

December 4, 2017 by No Comments

आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असद उद्दीन ओवैसी ने आरएसएस के चीफ़ मोहन भागवत के उस बयान पर निशाना साधा जिसमें उन्होंने कहा था कि अयोध्या में सिर्फ़ राम मंदिर ही बनेगा. ओवैसी ने कल रात एक सभा को संबोधित करते हुए कहा,”… किसने कहा मोहन भगवत को किसने कहा किसने इजाज़त दी कि जब उसने कहा कि उस जगह पर सिर्फ़ राम मंदिर ही बनेगा… कौन है मोहन भागवत, आरएसएस के चीफ़ तो हो तुम सुप्रीम कोर्ट तो नहीं हो, सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला तो नहीं लिखने वाले हो.. सुप्रीम कोर्ट के चीफ़ जस्टिस तो नहीं हो… तुम हिन्दुस्तान के बादशाह तो नहीं हो, तुम हिन्दुस्तान के अदना शहरी हो, तुमको जितना हक़ है उतना ही मुझे भी हक़ है.”

उन्होंने कहा कि देश आस्था से नहीं चलता क़ानून से चलता है. इसके पहले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक विवादित बयान देकर कहा था कि अगले साल दीवाली राम मंदिर में मनाई जायेगी. आरएसएस और विश्व हिन्दू परिषद् बाबरी मस्जिद की ज़मीन पर राम मंदिर बनाने को लेकर लगातार बयान देती रही है. हालाँकि अक्सर ये मुद्दा तभी उछाला जाता है जब चुनाव नज़दीक होते हैं. अब चूंकि गुजरात में चुनाव हैं तो आम लोगों क जज़्बात उछाल कर वोट हासिल करने की कोशिश हो सकती है.

बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि का मामला अदालत में पेंडिंग है और इस वजह से इस पर कोई भी टिपण्णी यूँ तो राजनीतिक लोगों को नहीं करनी चाहिए लेकिन वोट हासिल करने का ये आसान तरीक़ा भी है. हालाँकि ये बात अब देश के लोगों को भी समझनी होगी कि देश में एक क़ानून है और उसे अपना काम करने दिया जाए, ऐसे नेताओं की बातों में ना आयें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *