गुजरात में हमारी एक भाभी हैं, उन्हें भी इंसाफ़ मिलना चाहिए: ओवैसी

December 28, 2017 by No Comments

नई दिल्ली लोकसभा में केंद्र सरकार ट्रिपल तलाक़ के सिलसिले में प्रस्ताव लायी है.इस बिल पर बहस हुई और अभी वोट डाले गए हैं. ये बिल अभी अभी लोकसभा में पारित हो गया है. इस बहस में हालाँकि केंद्र सरकार को समर्थन भी मिल रहा है लेकिन कई दल इसके विरोध में भी हैं. इसमें बीजू जनता दल के नेता भर्तहरी माहताब और आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने भी विरोध किया है. सदन में अपना पक्ष रखते हुए ओवैसी ने अप्रत्यक्ष रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला.

उन्होंने कहा कि अगर ये बिल पास होता है तो ये सही नहीं होगा. उन्होंने कहा कि 20 लाख ग़ैर-मुस्लिम महिलायें ऐसी हैं जिन्हें उनके पतियों ने छोड़ दिया है लेकिन उन्हें इंसाफ़ नहीं मिल रहा है. मोदी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात में हमारी एक भाभी भी हैं, उन्हें भी इंसाफ़ मिलना चाहिए. ओवैसी ने कहा कि ये बिल मौलिक अधिकारों के ख़िलाफ़ है.भर्तहरी माहताब ने कहा कि इस बिल में कमियाँ हैं और कई जगह इंटरनल कंट्राडिक्शन भी हैं.

NDA सरकार द्वारा पेश किये गए इस बिल का समर्थन कांग्रेस ने भी किया है. रविशंकर प्रसाद ने बहस के दौरान कहा कि हम किसी भी तरह इस्लामिक क़ानून में दख़ल नहीं दे रहे हैं, ये बिल तलाक़-ए-बिद्दत पर आधारित है. उन्होंने कहा कि ये विधेयक किसी भी तरह से धर्म या धार्मिक किर्याओं से नहीं जुदा बल्कि लैंगिक समानता के लिए ही है.बिल के बारे में कांग्रेस नेता मलिकार्जुन खरगे ने कहा कि हम सभी इसका समर्थन करते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *