ओवैसी ने अमित शाह से भरी सभा में पूछा सवाल-‘अमित शाह कब बदलेंगे अपना नाम?’

November 12, 2018 by No Comments

हैदराबाद: भाजपा की सरकारों ने शहरों का नाम बदलने का जो ट्रेंड शुरू किया है उसमें अब वो ख़ुद ही घिरती नज़र आ रही है. हाल ही में इतिहासकार इरफ़ान हबीब ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सलाह दी कि वो अपना नाम बदल लें क्यूँकि अमित शाह के नाम में फ़ारसी शब्द है. अब इस मामले में आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि शाह कब अपना नाम बदल रहे हैं. ओवैसी ने एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा,”यूपी में शहरों के नाम बदले जा रहे हैं। इलाहाबाद का नाम बदल दिया, आगरा का नाम बदला जा रहा है, फैजाबाद का नाम बदल दिया गया।’ वो आगे कहते हैं,”अमित शाह अपना नाम कब बदल रहे हैं। शाह तो फारसी शब्द है।”

आपको बता दें कि टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत में प्रोफ़ेसर इरफ़ान हबीब ने कहाकि गुजरात शब्द फ़ारसी शब्द है पहले गुजरात को गुर्जरात्र कहा जाता था इस नाम को भी भाजपा को बदलना चाहिए.उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहाकि भाजपा की विचारधारा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की विचारधारा से मेल खाती है.हबीब ने कहाकि पाकिस्तान में इस्लाम से अलग चीजों का विरोध हो रहा है वही भारत में आरएसएस और भाजपा दुसरे धर्म के नाम बदलने में लगी है.

प्रोफेसर हबीब ने खुलासा करते हुए शाह शब्द का मूल फारसी से है जिसका ​​मतलब राजा से होता है.शाह उपनाम भारत में अधिकतर सैय्यद मुस्लिमों के द्वारा लगाया जाता है. उन्होंने कहा कि शाह नाम भी अमित शाह को हटा देना चाहिए.उन्होंने भारत में आरएसएस पर कट्टरपंथी विचारधारा को बढावा देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा,”बीजेपी सरकार द्वारा शहरों का नाम बदलना आरएसएस की हिंदुत्व पॉलिसी का हिस्सा है। पाकिस्तान में जो भी चीज इस्लामिक नहीं थी उसे खत्म कर दिया गया, उसी तरह आरएसएस और हिंदूवादी संगठन देश में उस हर चीज का नाम बदलना चाहते हैं जो नॉन-हिंदू या खासतौर पर इस्लामिक मूल की है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *