UP-दो साल पहले जिस पर लिखवाया था रे’प का केस ,अब उसी से मंदिर में रचा ली शादी , बोली – रे’प के बाद मुझे..

November 24, 2021 by No Comments

यूपी के अलीगढ़ में प्रेमिका ने बा/लिग होने पर घर वालों से ब’गावत कर प्रेमी से मंगलवार को मंदिर में शादी रचा ली. प्रेमिका के घर वालों के विरो’ध के चलते प्रेमी पर अ’पहरण व दु’ष्कर्म का मुद’कमा दर्ज किया गया था और प्रेमी को पांच महीने जेल में काट’ने पड़े थे.हाईकोर्ट से प्रेमी को जमानत मिल गई थी लेकिन इस बीच दोनों मिल नहीं सके.

वहीं, लड़की के 18 साल पूरे होने पर कोर्ट में प्रेमी से मुहब्बत की अपनी पूरी दास्तां बयान करते हुए केस वापस ले लिया. घर वालों के विरोध के बाद प्रेमिका ने मंगलवार को श्री वार्ष्णेय मंदिर में हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार प्रेमी से शादी रचा ली. वहीं, प्रेमिका ने बताया कि उसे अपनी जा’न का ख’तरा है और मुख्यमंत्री, एसएसपी, महिला आयोग से सुरक्षा की गुहार लगाई है.

घटना थाना सासनी गेट के जयगंज इलाके की है.दरअसल, प्यार की चिंगारी को एक लड़की ने बुझने नहीं दिया. पहली नजर में हुए प्यार को पाने के लिए लड़की बालिग होने तक इंतजार करती रही. प्रेमी भी बदना’म होने के बाद मिलन की घड़ी तक इंतजार करता रहा.

तीन साल पहले पंचनगरी की रहने वाली खुशी पाठक को कोचिंग में पढ़ने वाले वरुन से प्यार हो गया. जयगंज के रहने वाले वरुन भी खुशी पाठक के प्यार में गिर’फ्तार हो गया. दोनों का प्यार परवान चढ़ गया लेकिन इस प्यार के रिश्ते को खुशी के घर वालों को रास नहीं आया.

दोनों घर से भागे लेकिन खुशी के पिता प्रेमचंद्र ने थाना सासनी गेट में वरुन के खिलाफ अपहरण व दुष्क’र्म का मुकदमा दर्ज करा दिया.पुलिस ने दोनों को पकड़ ल‍िया और वरुन को कानूनी शिकंजे में अपहर’ण व दुष्कर्म के आ’रोप में जेल जाना पड़ा.खुशी कोई कड़ा कदम नहीं उठा सकी क्योंकि वह ना’बालिग थी.

वहीं, पिता प्रेमचंद ने भी वरुन से संबंध रखने पर आ’त्महत्या की ध’मकी देकर डरा दिया था.घरवालों के विरो’ध के चलते खुशी तीन साल तक चुप रही.वरुन को पांच महीने जेल में काटने के बाद हाईकोर्ट से जमानत मिल गई. 31 मार्च 2021 को खुशी पाठक ने 18 साल की उम्र पूरी कर ली और अपना मर्जी का निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हो गई.

Image

मंगलवार को खुशी ने कोर्ट में अपने वकील को खड़ा कर जज के सामने अपने प्यार की दास्तां सुना दी. खुशी ने न्यायालय से वरुन के खिलाफ चल रहे ट्रायल को वापस ले लिया.घर वालों के खिलाफ जाते हुए मंगलवार को खुशी ने मंदिर में शादी कर ली. इस दौरान वकील, मंदिर के पुजारी और वरुन के पिता अरविंद परिवार सहित मौजूद रहे.

Image

खुशी के घरवाले इस शादी में शामिल नहीं हुए क्योंकि अभी भी खुशी के पिता प्रेमचंद्र शादी के खि’लाफ हैं.खुशी ने लाल जोड़े में वरुन को जयमाला पहना कर अपना जीवन साथी बना लिया लेकिन उसे अब अपने घर वालों से जान का ख’तरा है और मुख्यमंत्री, एसएसपी व महिला आयोग को पत्र भेज कर सु’रक्षा की मांग की है.

Image

खुशी ने बताया कि कोर्ट में मेरे परिवार ने के’स किया था लेकिन 18 साल की होने पर वरुन के बचाव में बयान दिया है और अब 18 प्लस होने पर अपनी मर्जी से शादी कर रही हूं. वरुन के पिता अरविंद अग्रवाल ने बताया कि तीन साल पहले दोनों का अफेयर चल रहा था और वह शादी करना चाहते थे लेकिन 18 साल से कम होने के चलते नहीं कर पायें. अब कोर्ट को सच्चाई बता कर बेधड़क अपनी मर्जी से शादी कर रहे हैं.

Image

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *