क्रिसमस पर फिलस्तीनी लोगों ने किया राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन

December 26, 2017 by No Comments

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 6 दिसम्बर को येरुशलम को इजराइल की राजधानी स्वीकार किये जाने का ऐलान किया था। जिसपर इस्लामिक देशों के साथ दुनियाभर के देशों ने नाराजगी जताई थी।
कल क्रिसमिस के मौके को दुनियाभर में धूम-धाम से मनाया गया। लेकिन फिलिस्तीन के ईसाई नेताओं ने भी कल राष्ट्रपति ट्रंप के फैसले के खिलाफ नाराज़गी जाहिर की है।

क्रिसमस के दिन सभी फिलिस्तीन के ईसाईयों ने खिलाफ प्रदर्शन रैली का आयोजन किया। इस प्रदर्शन रैली मे उन्होंने राष्ट्रपति ट्रंप के इस फैसले को “ख़तरनाक” और “अपमानजनक” बताया। उन्होंने ट्रंप के इस फैसले के खिलाफ लड़ने की बात कही। इस रैली में ईसाईओं के साथ मुस्लिम समुदाय के लोग भी शामिल हुए और यहाँ शान्ति बहाल करने के लिए भाईचारे की राह पर चलने का सन्देश दिया।

उनका कहना है कि ट्रंप के इस फैसले के खिलाफ हम फिलिस्तीनी, ईसाई और मुस्लिम येरुशलम के पक्ष में उनके खिलाफ खड़े हैं। क्यूंकि अमेरिका ऐसे फैसले से यहाँ अशांति फैलाने की साजिश रच रहा है। हमने हमेश उन ताकतों का विरोध किया है। आज पूरी दुनिया में अमेरिका के फैसले का विरोध हो रहा है।
येरुशलम के ओर्थोडॉक्स चर्च के मुख्य पादरी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के इस कदम से ईसाई और इस्लामिक दुनिया में एक तरह का आक्रोशित माहौल बन गया है, क्यूंकि येरुशलम इस्लाम, ईसाई और यहूदियों की पवित्र जगह है, और यहाँ के लोग इसे किसी भी कीमत पर इजराइल को कब्ज़ा करने नहीं देंगे।”

उन्होंने यह भी बताया कि “हम, फिलिस्तीनी, ईसाई और मुस्लिम येरुशलम के हक में डट कर खड़े रहेंगे और इजराइल के नापाक इरादों को कभी पूरा होने नहीं देंगे।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *