बिजनेस डील के लिए पति ने मुझे दोस्त के साथ सोने को मज़बूर किया , अब मुझसे सहा नही जा रहा इसलिए मैं ..

मेरे पति प्रॉपर्टी का काम करते है हम लोग उच्च मध्यम परिवार से है किसी चीज़ की कमी नही थी लेकिन पिछले कुछ साल से को’रो’ना के वज़ह से मेरे पति का प्रॉपर्टी का कारोबार एकदम से पिट गया और ऐसे में लोन की किश्ते देने में बहुत दिक्कते आ रही थी.

एक दिन पति ने मुझसे रात में कहा,मैं एक नया कारोबार शुरू करने जा रहा हूँ इसके लिए हमें पैसे की ज़रूरत होगी और इसका एक ही रास्ता बचा है अगर तुम साथ दो तो ये मैनेज हो जायेगा.मैंने कहाकि बोलिए -मैं अपने स्तर से कोशिश करुँगी.इसके बाद उन्होंने कहाकि एक partner मिल गया है वो पूरा पैसा लगाएगा.

मैंने इस पर खुशी ज़ाहिर की ये तो अच्छी बात है.फिर वो बोले लेकिन उसकी एक शर्त है वो चाहता है तुम उसके साथ रा’त बिताओ.ये सुनकर मैंने हैरान हो गयी.पति ने कहाकि कोई रास्ता नही बचा है अगर तुम नही मानी फिर मैं इस ख़ुद’कु’शी कर लू यही बचा है.उदास होकर मैं बोली – किसके साथ मुझे सोना है.

इस पर पति ने इसका नाम लिया मैं सुनकर हैरान हो गयी ,जिस शख्स का नाम लिया वो मेरे पड़ोस में ही रहता है और मुझे भाभी कहता है.मैंने कहाकि उससे बोल देना ये बात किसी को पता ना चले.इसके बाद पति ने दिन में उसे बुलाया और उस शख्स ने मेरे साथ अपने सारे अरमान पुरे किये लेकिन मुझे ये सब सहन होते अपने से घिन्न आने लगी.

मुझे लगा ये सिर्फ एक दिन की बात है लेकिन इसके बाद वो जब पति से कहता मुझे मेरा पति उसके साथ कमरे में भेज देता.कुछ दिनों में आसपास के लोगो में भी बात फ़ैल गयी.इस बीच मेरे पति का कारोबार अपने उसी दोस्त के साथ खूब फल फूल गया.

मैंने एक दिन पति से कहा ,अब बहुत हो गया ये सब आगे से ना करना जिस पर वो नाराज़ हो गये और बोले कि उसके एहसान नही भूल सकता हूँ अगर तुम ही मानी मैं तुम्हे तलाक दे दूंगा.इस पर मेरे सब्र का बाँध टूट गया मैंने कहा मुझे तलाक ही लेना है अब.ऐसी ज़िन्दगी नर्क है मेरे लिए.

अब मैंने घर छोड़ दिया और अपने पति से तलाक ले रही हूँ क्युकि जो शख्स मेरे जिस्म को पैसा कमाने की चीज़ समझ बैठा है उससे दूर हो जाना ही बेहतर है.अगर आपकी भी रिश्तों से जुड़ी कोई कहानी है, जिसे आप सबके साथ साझा करना चाहते हैं तो उसे admin@bharatduniya.com पर भेज सकते हैं। आपका नाम गुप्त ही रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.