CEC का निर्देश: PMO को बताना होगा, पीएम मोदी के साथ विदेशी दौरों पर कौन से कारोबारी जाते हैं

January 29, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: साल 2014, जब केंद्र में बीजेपी ने सत्ता संभाली। नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री नियुक्त किए गए। पीएम मोदी ने इस पद को संभालने के बाद दुनिया के ज्यादातर देशों के दौरे कर लिए हैं। देश में हालात जैसे भी रहे, लेकिन पीएम मोदी ने चीन से लेकर अमेरिका, पाकिस्तान से लेकर रूस सभी देशों के दौरे किए।
पीएम मोदी के विदेशी दौरों पर करोड़ों का खर्चा आता है। हाल ही में एक आरटीआई से इसका खुलासा हुआ था। जिसमें पीएम मोदी के दौरों पर हुए सारे खर्च का ब्योरा दिया गया था। अब एक आरटीआई के तहत पीएमओ से पूछा गया है कि ये जानकारी सार्वजानिक की जाए की पीएम मोदी के साथ इस विदेशी दौरों पर कौन-कौन जाता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए इस आरटीआई का जवाब देने के लिए पीएमओ ने इंकार कर दिया है। जिसके चलते अब चीफ इनफार्मेशन कमिश्नर (सीआईसी) आरके माथुर ने पीएमओ की राष्ट्रीय सुरक्षा की दलील को खारिज करते हुए को निर्देश दिया है कि आरटीआई में पूछे गए सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जाए।
दो मामलों पर फैसला लेते हुए आरके माथुर ने हालांकि पीएमओ को प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों और लोगों के नाम जाहिर न करने की छूट दी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के साथ विदेशी दौरों पर जाने वाले उन गैर सरकारी व्यक्तियों के नाम और सूची आरटीआई दाखिल करने वालों को दी जानी चाहिए, जिनका सुरक्षा के साथ कोई लेना-देना नहीं है।

ये आरटीआई, बीते साल नीरज शर्मा नाम के आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा दाखिल की गई है। वहीं साल 2016 में अयूब अली नाम के कार्यकर्ता ने पीएम आवास और कार्यालय पर होने वाले महीने का खर्च जान्ने के लिए आरटीआई दाखिल की थी। लेकिन जब पीएमओ ने उन्हें इसके बारे में जानकारी मुहैया नहीं करवाई तो सीआईसी ने इसमें दखल दिया।

नीरज शर्मा ने पीएम मोदी के विदेशी दौरों पर उनके साथ जाने वाले प्राइवेट कंपनियों के सीईओ और कारोबारियों या उनसे जुड़े अन्य लोगों के बारे में जानकारी मांगी थी। नीरज शर्मा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल के समय यह जानकारी पीएमओ की वेबसाइट पर उपलब्ध थी। उन्होंने कहा कि पीएमओ की तरफ से कहा गया कि पीएम मोदी के दौरों के बारे में जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है, लेकिन उनके साथ विदेशी दौरों पर जाने वाले लोगों के नाम सुरक्षा कारणों के चलते उजागर नहीं किए जा सकते।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *