पूर्व बसपा नेता ने किया दावा- “मायावती कभी भी मेरी हत्या करवा सकती हैं”

सहारनपुर: उप्र के पूर्व कैबिनेट मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दिकी ने आरोप लगाया कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने दलितों के लिये राज्यसभा से इस्तीफा नहीं दिया था। वह किसी दलित का भला नहीं चाहती। मायावती ने केवल अपना और अपने परिवार का भला किया है।

सिद्दिकी ने आरोप लगाया, ‘‘मायावती कभी भी मेरी हत्या करवा सकती है।’’ बसपा से निष्कासित सिद्दीकी आज नवगिठत पार्टी राष्ट्रीय बहुजन पार्टी के प्रचार के लिये सहारनपुर आये थे जहां पहली कार्यकर्ता बैठक से पूर्व वे पत्रकारो से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘बसपा से जितने लोगों बाहर निकाला गया है उसके पीछे बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा का हाथ है। मायावती ने मिश्रा के कहने पर ही राज्यसभा से इस्तीफा दिया है। मिश्रा को राज्यसभा में बसपा का प्रतिनिधि बनना था इसलिये उन्होंने मायावती का इस्तीफा दिलवा दिया।’’ सिद्दीकी ने कहा कि मायावती यह बता रही है कि वह सहारनपुर के शब्बीरपुर के दलितों की आवाज उठा रही थी लेकिन उन्हें बोलने नहीं दिया। जो चार बार उतर प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी हो और पार्टी की राष्टीय अध्यक्ष हो जब उन्हें बोलने नहीं दिया जा रहा है तो फिर उनके बाद किसे बोलने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मायावती ने दलित प्रेम या बोलने न देने पर इस्तीफा नहीं दिया है। यह केवल उनकी ड्रामेबाजी है जिसे दलित समाज समझ चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.