JDU नेता प्रशांत किशोर का आकलन सुनकर भाजपा को लगा धक्का,बोले-अब 2014 जैसी नही है…

November 11, 2018 by No Comments

पटना-हाल ही में जदयू में शामिल हुए प्रशांत किशोर ने एक ऐसी बात कही है जो भाजपा को अच्छी नहीं लगने वाली.बिहार में जदयू को मज़बूत करने की कोशिश में प्रशांत किशोर लगातार मीटिंग कर रहे हैं.इस बीच उन्होंने कहा है कि आने वाले लोकसभा चुनाव भाजपा के लिए उतने आसान नहीं होंगे.उन्होंने कहा कि अब मोदी लहर पहले जैसी नहीं है.

हालाँकि वो ये तो कहते हैं कि भाजपा अभी भी सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभर सकती है.किशोर ने कहा कि 272 से कम ही सीटें इस बार भाजपा के आने की उम्मीद हैं.वो कहते हैं कि हालाँकि चुनाव एक ऐसी चीज़ है जो 10-12 दिन में पलट जाता है.उन्होंने कहा कि २०१४ के समय नारे और वादे चल गए थे लेकिन अब लोग ज़मीनी हक़ीक़त की बात करना चाहते हैं.उनका कहना है कि 2019 में लोग उम्मीदवार को देखकर वोट देंगे.

google search


उन्होंने सोशल मीडिया की एहमियत को भी बताया. उन्होंने कहा कि 2014 में जहाँ 4 से 5 करोड़ स्मार्ट-फ़ोन थे वहीं अब संख्या 35 से 40 करोड़ तक पहुँच गयी है.

महागठबंधन की एहमियत को समझते हुए किशोर कहते हैं कि मौजूदा दौर में किसी भी पार्टी का अकेले चुनाव जीतना मुश्किल है,इसलिए गठबंधन की ज़रूरत होती है.उन्होंने कहा कि गठबंधन बनाने वाले दलों की संभावना अच्छी रहेगी.राम मंदिर मुद्दे पर अपनी टिपण्णी करते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव के समय दल इस तरह के मुद्दे उठाते हैं जिससे उन्हें फायदा हो लेकिन अयोध्या मुद्दे का हल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक़ ही होना चाहिए.जब उनसे पूछा गया कि क्या जदयू इस मुद्दे पर भाजपा से सहमत है तो उन्होंने कहा कि गठबंधन के दौरान कुछ मुद्दे ऐसे होते हैं जिन पर आप सहमत होते हैं और कुछ ऐसे जिन पर नहीं. किशोर ने कहा कि उनकी पार्टी इस मुद्दे पर क्या राय रखती है, समय आने पर ज़ाहिर करेगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *