पिछली सरकार कम से कम अपने फ़ैसले पर टिकती तो थी: उद्धव ठाकरे

मुंबई: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर केंद्र सरकार की आर्थिक पोलिसी को निअशाना बनाया है. उन्होंने कहा,”मैं कोई अर्थशास्त्री नहीं हूँ जो कल हुए एलानों पर बोलूँ लेकिन इतना ज़रूर कहूँगा कि पिछले सरकार अपने फ़ैसलों पर टिकती थी.”

उद्धव ठाकरे ने कहा कि GST की टैक्स स्लैब कम करने पर वो केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा करते हैं लेकिन क्या वो अब तक लिया गया टैक्स वापिस करेगी?

उन्होंने कहा कि ये विपक्ष के विरोध और लोगों की नाराज़गी को देखते हुए किया गया है.उद्धव ने कहा कि लोग अभी भी ख़ुश नहीं हैं, पेट्रोल की क़ीमतें ज़्यादा ही हैं, महंगाई बढ़ रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने GST कौंसिल के फ़ैसलों को दिवाली गिफ्ट कहा लेकिन उद्धव ने ऐसा मानने से इनकार करते हुए कहा कि ये कोई दिवाली गिफ्ट नहीं है कुछ और बदलाव भी चाहिए थे.

उन्होंने कहा कि ये बदलाव इसलिए किये गए हैं क्यूँकि गुजरात में विधानसभा चुनाव है. ठाकरे ने कहा कि अब फ़ैसला लेने की घड़ी आ गयी है..हम लोगों की सेवा करने आये हैं और वो करते रहेंगे.NDA से अलग होने के सवाल पर ठाकरे ने साफ़ कहा कि वो किसी को अल्टीमेटम नहीं देते, जब उन्हें लगता है वो फ़ैसला लेते हैं.

पिछले कुछ महीनों से शिवसेना केंद्र सरकार की नीतियों की खुली आलोचना कर रही है. इसको देखते हुए ये सवाल उठने लागा है कि क्या शिवसेना NDA गठबंधन से अलग होगी? इस बारे में कई बार शिवसेना ने संकेत भी दिए हैं लेकिन अभी तक इस बारे में भाजपा का कोई नेता कुछ भी बोलने से बच ही रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.