BHU में छेड़खानी के विरोध में छात्रा ने मुंडवाया सिर; LU में चल रहा है छात्रसंघ बहाली को आन्दोलन

बनारस हिन्दू विश्विद्यालय में छात्रा से छेड़छाड़ के बाद विरोध प्रदर्शन

वाराणसी: बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में कल रात एक छात्रा से हुई छेड़खानी के विरोध में BHU गेट पर बड़ी संख्या में छात्राएँ जुटीं. छात्रा आकांक्षा ने अपना सिर मुंडवा कर विरोध दर्ज कराया है.प्रोक्टोरिअल बोर्ड ने लड़कियों से मुलाक़ात की है लेकिन इस मुलाक़ात को लड़कियों ने बेकार बताया.

छात्राओं का कहना है कि अभी तक VC ने भी इस मुद्दे पर कोई क़दम नहीं उठाया है. सोशल मीडिया के ज़रिये छात्र-नेत्री पूजा शुक्ला ने BHU में हुई घटना की निंदा की.उन्होंने ट्विटर पर लिखा,”Bhu की छात्राये छेड़छाड़ के खिलाफ आंदोलन कर रही है, खुले आम छेड़ छाड़ हो रही है और एन्टी रोमियो दल गायब है।”

लखनऊ विश्विद्यालय में छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर 100 घंटे से धरने पर छात्र

लखनऊ: लखनऊ विश्विद्यालय में छात्रसंघ बहाली को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी है. लगातार 100 घंटे से धरने पर बैठे छात्रों से बातचीत करने अभी तक प्रशासन का कोई भी अधिकारी नहीं आया है. इस प्रदर्शन में समाजवादी छात्रसभा, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, NSUI, SFI जैसे दलों के छात्र शामिल हैं. छात्र-संघ बहाली मोर्चा के बैनर तले जुटे छात्रों की मांग है कि छात्रसंघ चुनाव कराये जाएँ.

समाजवादी छात्रसभा के महेंद्र यादव ने बताया कि प्रशासन अपनी मनमानी में लगा है..मनमर्ज़ी की फ़ीस वसूली जा रही है, ये सब तभी रुक सकता है जब चुनाव हों”. छात्रसभा के ही माधुर्य “मधुर” कहते हैं कि प्रशासन का रवैया निराशाजनक है और अगर यही रवैया रहता है तो हमें आमरण अनशन करना पड़ेगा.सोशल मीडिया के ज़रिये भी छात्र-नेता अपनी बात रख रहे हैं.

शहर में ना होने की वजह से लखनऊ विश्विद्यालय के छात्र नेता ज्योति राय ने इस सिलसिले में अपने साथियों के नाम एक ख़त भी लिखा है.छात्र नेत्री पूजा शुक्ला ने अपनी फेसबुक वाल पर लिखा,”100वा घण्टा पूरा हो चुका है ,छात्र दिन से रात रात से दिन शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन चला रहे है, ये छात्र कोई नेता नही है ये लखनऊ विश्वविद्यालय के आम छात्र और इस देश का उज्ज्वल भविष्य है जो कि दिन रात जाग कर लड़ रहे है अपने हक अधिकार के लिए, वीसी साहब देखिये छात्रो का आन्दोलन है निकलिए अपने ac वाले कमरे से देखिए इनको इनकी लगन को ,हम सब का सलाम इन क्रांतिकारियों को। इंक़लाब जिंदाबाद।”. वैभव मिश्रा, विवेक प्रताप तथा अन्य छात्रों ने भी सोशल मीडिया के ज़रिये प्रदर्शनकारी छात्रों का हौसला बढ़ाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.