भारत पहुंचे फ्रांसीसी राष्ट्रपति, ट्रेंड हुआ #RafaleScamExposed यूज़र्स बोले- भ्रष्ट है देश का चौकीदार

March 10, 2018 by No Comments

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों अपनी पत्नी के साथ शुक्रवार देर रात चार दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे हैं। इज़राइल के प्रधानमंत्री की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें रइवे करने के लिए एक बार फिर प्रोटोकॉल तोड़ दिया। पीएम मोदी ने खुद एयरपोर्ट पहुंचकर इमैनुएल का स्वागत किया। फ्रांस के राष्ट्रपति के विमान से उतरते ही पीएम मोदी ने गले लगाकर उनका स्वागत किया।

फ्रांस के राष्ट्रपति के भारत दौरे पर आने के बाद मोदी सरकार का राफेल स्कैम एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गया है। एक तरफ जहाँ कांग्रेस ने आज केंद्र सरकार पर आज इस मामले में हमला बोला है। वहीँ सोशल मीडिया साइट पर #RafaleScamExposed हैशटैग ट्रेंड कर रहा है।इस हैशटैग में सोशल मीडिया यूज़र्स प्रतिक्रिया देते हुए मोदी सरकार पर हमला कर रहे हैं:

क्या हुआ उस दावे का, न खाऊंगा न खाने दूँगा? लोगों की मेहनत से की गई कमाई का दुरुपयोग किया जा रहा है, हमसे टैक्स वसूल कर राजनेता और कारोबारियों की जेबें भरी जा रही हैं।

जब हम मोदी और उनके रक्षा मंत्री से राफेल सौदे के बारे में पूछते हैं तो वे कहते हैं कि फ्रांस और भारत के बीच एक गुप्त समझौता है और फ्रांस कह रहा है कि वे सौदा विवरण प्रकट कर सकता हैं। उन 31% बेवकूफों को देखिये जिन्होंने बीजेपी के लिए वोट किया।

भारत और फ्रांस के बीच राफल सौदा क्या है? राफेल डील के सेलर को विवरण प्रकट करने के लिए कोई आपत्ति नहीं है लेकिन खरीदार को आपत्तियां हैं? क्यूं ? दाल मे कछ काला है या पूरी दाल ही काली है ?
अंबानी को बचाने के लिए मोदी सरकार राफेल डील पर देश को भ्रामक करने की कोशिश करती है। लेकिन इनका पर्दाफाश हो गया। भाजपा आईटी सेल और उनके लैपडॉग मीडिया हाउस जल्द ही राफेल डील मुद्दे से ध्यान हटाने के लिए कुछ बेवकूफ विषयों के साथ आएंगे।
भ्रष्ट चौकीदार को बचाने के लिए नया बहाना क्या है ?

भारत के लोगों को यह समझने की ज़रूरत है कि बीजेपी अपने चुनावों और एमएलए के लिए खरीदारी पर इतना पैसा खर्च करने में सक्षम कैसे है ?

राफेल स्कैम का पर्दाफाश हो गया, लेकिन राफेल एक घोटाला नहीं है क्योंकि यह मोदी शासन में किया गया था। भक्त कभी इसे स्वीकार नहीं करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *