2019 लोकसभा चुनाव: राहुल गाँधी की अगुवाई में कांग्रेस ने शुरू की तैयारी, “बीजेपी को हराना है”

January 8, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं। उससे पहले इस साल राजस्थान, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन तीनों राज्यों में अभी बीजेपी सत्ता जमाये हुए है। हाल में हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी में बहुमत से सरकार बनाई है। हालांकि इस बार कांग्रेस के अध्यक्ष बन चुके राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है।
गुजरात में कांग्रेस ने युवा नेता, हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर के साथ हाथ मिलाया है। जबकि दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने वडगाम से चुनाव लड़ा और जीता। कांग्रेस ने जिग्नेश को बाहरी समर्थन दिया।  राहुल गांधी को गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले पार्टी अध्यक्ष घोषित किया गया।

जिसके बाद अब राहुल गांधी पर पार्टी का संचालन बेहतर तरीके से करने की बड़ी जिम्मेदारी आ चुकी है। राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश, जहाँ पर बीजेपी की सरकारें अपनी जड़े गहराई में जमाये बैठी हैं। वहां पर कांग्रेस को चुनाव जीतने के लिए किस तरह की रणनीतियों पर काम करना होगा।

इसके साथ साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव जीतना अब कांग्रेस का एक अहम टारगेट बन गया है। लेकिन इसके लिए कांग्रेस को काफी जदोजहद और बेहतर रणनीतियों पर काम करने की जरूरत है।  हालांकि राहुल गाँधी की छवि गुजरात चुनाव प्रचार में काफी निखर कर सामने आई है। लेकिन अभी भी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबला करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ेगी।
क्यूंकि बीजेपी अध्यक्ष की नजर अब नेताओं पर है जो उनके लिए 2019 के लोकसभा चुनाव में फायदेमंद साबित हो सकते हैं। बीजेपी के लिए चुनावी रणनीति बनाने में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एक अहम रोल निभाते हैं। लेकिन गुजरात चुनाव में 150 सीटों पर जीत हासिल करने के बीजेपी के दावे को कांग्रेस ने पूरा नहीं होने दिया है।

जिसे बीजेपी भी नजरअंदाज नहीं कर सकती। क्यूँकि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस मजबूत हो रही है। कांग्रेस का युवा नेताओं को उनके साथ जोड़ने का फैसला उनके लिए काफी कारगार सिद्ध हुआ है।
वहीँ कांग्रेस भी मानती है कि राहुल गांधी में क्षमता भी है और उनकी नीयत भी साफ है। वह युवाओं को मेनस्ट्रीम में लाना चाहते हैं। जिसके लिए वो सामाजिक आंदोलन कर रहे युवाओं के साथ है। राहुल गांधी को राजनीतिक क्षेत्र के युवा नेताओं के साथ सामंजस्य बैठाना होगा।

[get_Network_Id]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *