राहुल गाँधी के एक्शन में आने से बिहार कांग्रेस में एकजुटता क़ायम

September 8, 2017 by No Comments

नई दिल्ली- कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बिहार कांग्रेस को टूट से बचाने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं. इसी बीच खबर है कि बिहार के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी की छुट्टी की जा सकती है. खबर है कि आलाकमान ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना लिया है. अशोक चौधरी पर भीतरघात के आरोप लगे हैं.

इससे पहले गुरुवार को बिहार के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा था कि एक साजिश के तहत उन्हें अध्यक्ष पद से हटाने की कवायद की जा रही है.उन्होंने कहा कि पार्टी के 10 विधायकों का ग्रुप मुझे अध्यक्ष पद से हटाने की कवायद में जुटा हुआ है.

उन्होंने साफ किया कि पार्टी में भितरघात का खेल चल रहा है, जिसमें पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं.

आपको बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में बिहार के पार्टी विधायकों से मुलाकात की है, राहुल गांधी ने बिहार कांग्रेस के 20 से ज्यादा विधायकों को दिल्ली बुलाया और उनसे बातचीत की है.ख़ास बात ये है कि कांग्रेस हाईकमान की बैठक में बीस से ज्यादा विधायक पहुचे इस वज़ह से माना जा रहा है कि आवश्यक विधायक ना होने के वज़ह से अब बिहार कांग्रेस को बागी नही तोड़ सकेंगे.

पूरे मामले में चौंकाने वाली बात ये रही कि इस मुलाकात के दौरान बिहार कांग्रेस के बड़े नेता और प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी अनुपस्थित थे, पूरे मामले पर अशोक चौधरी ने सवाल खड़े किए हैं.उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा मुझे साइड लाइन करने की कोशिश हो रही है,अशोक चौधरी ने कहा कि मेरे अध्यक्ष रहते हुए पार्टी बिहार में 4 सीट से 27 सीट पर पहुंची है, वहीं विधान परिषद में पहले हमारी संख्या शून्य थी, अब हमारे 6 सदस्य हैं.उन्होंने कहा कि पार्टी को मुझ पर विश्वास है लेकिन कुछ वरिष्ठ नेता मुझे पद से हटाने की कोशिश कर रहे हैं। फिलहाल देखना दिलचस्प होगा कि बिहार कांग्रेस में जारी घमासान कब तक में थमेगा.

गौरतलब है कि अशोक चौधरी को बिहार सीएम नीतीश कुमार का करीबी माना जाता है,अशोक चौधरी ने हाल ही में राष्ट्रिय जनता दल और कांग्रेस के गठबंधन का भी विरोध किया था.

#साभार: Headline24

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *